BREAKING NEWS

प्रशासनिक व्यस्तता से टला विश्वविद्यालय छात्र संघ का चुनाव

DDU-University-Gorakhpurगोरखपुर: त्यौहार और वीवीआईपी शख्सियतों के दौरों को देखते हुए गोरखपुर प्रशासन ने दीनदयाल उपाधयाय विश्वविद्यालय से छात्र संघ चुनाव की तिथि टालने को कहा है। हालाँकि पहले ये छात्रसंघ चुनाव 16 सितंबर को होने थे। इसके लिए पहले ही विवि प्रशासन ने जिला प्रशासन को पत्र लिखकर उक्त तिथि को सहयोग माँगा था, किन्तु मंगलवार तक कोई जवाब नही मिला था, जिससे विवि प्रशासन भी उहापोह की स्थिति में फंसा था।

बता दें कि पूर्व में हाइकोर्ट से स्थगनादेश समाप्त होते ही विश्वविद्यालय प्रशासन ने आनन फानन में जिला प्रशासन को चिट्ठी लिखकर चुनाव हेतु 16 सितम्बर को तिथि मुकर्रर कर दिया था। जिसका जवाब उन्हें मंगलवार की बैठक तक नही मिल पाया था।

प्रशासनिक सहमति का इंतजार कर रहे विश्वविद्यालय प्रशासन को पुलिस प्रशासन ने दो टूक जवाब दिया है। पुलिस अधिकारियों का कहना है कि इस अवधि में एक ओर जहां बकरीद, गणेश चतुर्थी आदि त्योहार हैं वहीं अगले कुछ दिनों में शहर में कई वीआइपी के दौरे भी प्रस्तावित हैं, ऐसे में 16 सितंबर को शुचिता और शांति के साथ चुनाव संपन्न कराने में समस्या हो सकती है।

ऐसे में सुरक्षा कारणों से बेबस विश्वविद्यालय प्रशासन आगामी एक दो दिन में चुनाव की नई तारीख की घोषणा कर सकता है। अंदेशा है कि नई तिथि 20 से 30 सितंबर के बीच हो सकती है। किन्तु इसमें भी संशय है क्योंकि16 सितंबर को चुनाव स्थगित होने के बाद अब नई तिथि तय करने में विश्वविद्यालय प्रशासन को खासी मशक्कत करनी होगी।

दरअसल जिला एवं पुलिस प्रशासन 20 से 30 सितंबर के बीच चुनाव के लिए राजी तो है, लेकिन 25 सितंबर को विश्वविद्यालय का दीक्षा समारोह है। इसके पांच दिनों बाद नवरात्र शुरू हो रहा है, जिस अवधि में पुलिस प्रशासन चुनाव के लिए इन्कार कर ही चुका है। वहीं 26 से 30 सितंबर के बीच चुनाव प्रक्रिया पूरी हो नहीं सकेगी। जाहिर है कि छात्रसंघ चुनाव की तैयारी कर रहे छात्रों को लंबा इंतजार करना होगा।

इस सम्बन्ध में बीते दीवस वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक के साथ चुनाव अधिकारी प्रो. संजय बैजल की बैठक हुई। जहां चुनाव के लिए जरूरी सुरक्षा संसाधनों पर विमर्श हुआ। पुलिस प्रशासन से चर्चा के बाद चुनाव अधिकारी प्रो.संजय बैजल ने कहा कि अब नई तारीख पर विचार किया जाएगा।

LIKE US:

fb

 

GFR Desk



प्रशासनिक व्यस्तता से टला विश्वविद्यालय छात्र संघ का चुनाव