सिद्धार्थनगर के 64.5 हजार किसानों का होगा कर्ज माफ

TIME
TIME
TIME

सिद्धार्थनगर: प्रदेश सरकार के किसान कर्जमाफी योजना का लाभ जिले के 64 हजार 548 किसानों को मिलेगा। जिले के किसानों के उपर बैंकों का 416 करोड़ रूपया बकाया है। कृषि विभाग के जिम्मेदारों ने किसानों के कर्जमाफी की योजना तैयार कर बैंकों को भेज दिया है।

बैंकों द्वारा कृषकों ऋण का सत्यापन करने के बाद उसकी सूची कृषि विभाग को भेजी जाएगी। जिसके आधार विभाग द्वारा सरकार से धन की मांग की जाएगी। इसके बाद किसानों को कर्जमाफी का प्रमाणपत्र दिया जाएगा।

जिले के किसानों को पूर्वांचल बैंकों की शाखाओं से सबसे अधिक कृषि कार्य के लिए कर्ज दिया गया है। अकेले पूर्वांचल बैंक ने 34 हजार 917 किसानों को कृषि कार्य के लिए कर्ज दिया है। इसके बाद भारतीय स्टेट बैंक ने सबसे अधिक 18 हजार किसानों को कर्ज दिया गया है।

जिले के 17 बैंक शाखाओं ने ही किसानों को कृषि कार्य के लिए कर्ज दिया है। पूर्वांचल बैंक ने किसानों को 116.535 करोड़ रूपए का कर्ज दिया है। भारतीय स्टेट बैंक ने 61 करोड़ रूपए का कर्ज किसानों को खेती के कार्य के लिए दिया है। शासन द्वारा सूची मांगे जाने पर कृषि विभाग ने एनआईसी के माध्यम से बैंकों को कृषि कार्य के लिए कर्ज लेने वाले किसानों की सूची भेज दी है।

अब सभी बैंक अपने यहां से कर्ज लेने वाले किसानों का सत्यापन करने के साथ ही आवश्यक कार्रवाई पूरी करेंगे। इसके बाद किसानों की सूची को फिर से कृषि विभाग को भेजी जाएगी। जिसके बाद विभाग द्वारा शासन को कर्ज माफी के रकम की जानकारी दी जाएगी।

जिसके बाद शासन से बैंकों को धन व अवमुक्त होने के बाद कृषि विभाग द्वारा किसानों को कर्ज माफी का प्रमाणपत्र दिया जाएगा। इसके लिए किसानों को अपने बैंक खाता को आधार से लिंक कराना होगा। जिसके बाद ही किसानों को कर्ज माफी सम्बंधी प्रमाण पत्र दिया जाएगा। जिला कृषि अधिकारी एसएन चौधरी ने बताया कि पूरी योजना की निगरानी मुख्य विकास अधिकारी स्तर से की जाएगी। इसके लिए पूरी योजना तैयार कर ली गई है।