बाढ़ को देखते हुये कुशीनगर जनपद मे हाई अलर्टबाढ़ को देखते हुये कुशीनगर जनपद मे हाई अलर्ट

TIME
TIME
TIME

कुशीनगर: पड़ोसी राष्ट्र नेपाल के बाल्मिकी बैराज द्वारा रविवार को 5.7 लाख क्यूसेक पानी को डिस्चार्ज किया जिससे जनपद मे नारायणी नदी मे बाढ़ की स्थिति उत्पन्न हो गयी और साथ ही लगातार वारीश की सम्भावना को देखते हुये आगामी 72 घंटो के अंदर जनपद के बाढ़ प्रभवित क्षेत्रो मे अधिकारियो को जनसहयोग हेतू तैनात कर दिया गया है।

जारी विज्ञप्ति मे कहा गया है कि बाढ़ क्षेत्रो मे उपस्थित रहकर नियंत्रण एवं प्रभावी कार्यवाही हेतू अधिकारी आमजन का सहयोग करे और उन्हे नैतिक जिम्मेदारी के साथ सुरक्षित स्थानो अथवा बाढ़ शरणालयो पर बसाना सुनिश्चत करे तथा पत्रकारो से सम्पर्क स्थापित करके उनके माध्यम से सूचना प्राप्त कर तदनूसार कार्यवाही सुनिश्चित करे।

सोमवार को जिलाधिकारी आन्द्रा वामसी ने एक निर्देश जारी कर जनपद के बाढ़ क्षेत्रो को चार जान मे बांट दिया है और सभी जोन मे क्रमशः दो और तीन अधिकारियो को इस आश्य से के साथ तैनात किया है कि बाढ प्रभवित व्यक्तियो को सुरक्षित स्थानो पर बसायेंगे और सूचना मिलने पर बाढ़ प्रभावित गांवो मे पहुंचकर कोटेदार एवं प्रधानो के साथ व्यवस्था सुनिश्चित करेंगे।

जिला प्रशासन ने जीवन सुरक्षा हेतू यंत्र नाव लाइफ जैकेट, दवा आदि की भी व्यवस्था मुख्य चिकित्साधिकारी से सम्पर्क कर वितरण कराना सुनिश्चित करेंगे।

जिन चार जोनो मे अधिकारियो को तैनात किया गया उनमे साहब लाल तहसीलदार खड्डा जो तहसील खड़ा मे नदी के उस पार, कृष्ण लाल तिवारी वि/रा व जयचन्द्र पाण्डेय उपजिलाधिकारी खड्डा को नदी के इस पार जबकि अजय नारयानण सिंह एसडीएम पडरौना व उपजिलाधिकारी कप्तानगंज को तहसील पडरौना के बाढ़ प्रभावित क्षेत्रो मे तथा उपजिलाधिकारी तमकुहीराज व उपजिलाधिकारी कसया व उपजिलाधिकारी हाटा को तमकुहीराज तहसील के दुदही एवं सेवरही के बाढ़ प्रभावित क्षेत्रो मे जन सहयोग हेतू तैनात किया गया है।