वीर बहादुर सिंह के बाद योगी सूबे के दूसरे मुख्य मंत्री गोरखपुर से

गोरखपुर: सदर सांसद योगी आदित्यनाथ उत्तर प्रदेश के अगले मुख्य मंत्री होंगे। आदित्यनाथ गोरखपुर से दूसरे ऐसे व्यक्ति होंगे जो प्रदेश की कमान संभालेंगे। इससे पहले कांग्रेस के नेता स्वर्गीय वीर बहादुर सिंह भी सूबे के मुख्य मंत्री रह चुके हैं।

वर्ष 1967 की उत्तर प्रदेश विधान सभा के लिए सर्वप्रथम पनियारा निर्वाचन क्षेत्र से विधायक बने वीर बहादुर सिंह 24 सितम्बर, 1985 से 24 जून,1988 तक उत्तर प्रदेश के मुख्य मंत्री रहे। वो वर्ष 88-89 तक राज्य सभा के सदस्य भी रहे।

श्री सिंह 1988 से 30 मई, 1989 तक केन्द्रीय संचार मंत्री भी रहे।

वहीँ योगी आदित्यनाथ गोरखपुर के प्रसिद्ध गोरखनाथ मंदिर के महन्त हैं। वे 2014 लोक सभा चुनाव में भारतीय जनता पार्टी के टिकट पर गोरखपुर से लोक सभा सांसद चुने गए। वे 1998 से लगातार इस क्षेत्र का प्रतिनिधित्व कर रहे हैं। आदित्यनाथ गोरखनाथ मंदिर के पूर्व महन्त अवैद्यनाथ के उत्तराधिकारी हैं। वह हिन्दू युवा वाहिनी के संस्थापक भी हैं, जो कि हिन्दू युवाओं का सामाजिक, सांस्कृतिक और राष्ट्रवादी समूह है।

योगी आदित्यनाथ का वास्तविक नाम अजय सिंह है। आदित्यनाथ बारहवीं लोक सभा (1998-99) के सबसे युवा सांसद थे। उस समय उनकी उम्र महज 26 वर्ष थी। उन्होंने गढ़वाल विश्विद्यालय से गणित से बी.एस.सी किया है। उन्होंने धर्मांतरण (जैसे निम्न वर्ग हिंदुओं को ईसाई बनाना), गौ वध रोकने की दिशा में सार्थक कार्य किये हैं। वे गोरखपुर से लगातार 5 बार से सांसद हैं।

आदित्यनाथ के भारतीय जनता पार्टी के साथ रिश्ता एक दशक से पुराना है। वह पूर्वी उत्तर प्रदेश में अच्छा खासा प्रभाव रखते हैं। इससे पहले उनके पूर्वाधिकारी तथा गोरखनाथ मठ के पूर्व महन्त, महन्त अवैद्यनाथ भी भारतीय जनता पार्टी से 1991 तथा 1996 का लोकसभा चुनाव जीत चुके हैं।