पशु-पक्षियों के मित्र भी है सूबे के नवनिर्वाचित मुख्य मंत्री आदित्यनाथ

गोरखपुर: यूपी के नये मुख्यमंत्री महंत आदित्यनाथ योगी को आम तौर पर कट्टर हिंदुत्व वाली छवि के रूप में ही लोग जानते हैं। लेकिन आप को बता दे कि योगी पशु व जानवर के भी प्रेमी है। गौ सेवा इनके प्रमुख प्रेमों में से एक है। गोरक्षपीठाधीशवर योगी रोज सुबह उठ कर गौ सेवा करते हैं।

यही नहीं वो लावारिस जानवरों की भी सेवा करते हैं। गोरखनाथ मंदिर में घुमने वाले लावारिस कुत्ते, गाय, बैल की भी सेवा करते हैं। सबसे बड़ी बात कि मंदिर के पास घुमने वाले जानवर या पशु आदित्यनाथ को घुमते देख उनके पास दौड़ के चले आते है और उनके साथ खेलते हैं।

वहीँ गोरखनाथ मंदिर में रहने वाले डंडा बाबा का कहना है कि महाराज जी (योगी आदित्यनाथ को सम्मानपूर्ण सम्बोधन) पशुओं के प्रेमी और जानवरों के प्रेमी हैं। एक बार योगी जी कार्यालय के बाहर शीत ऋतु में काम कर रहे थे, तो वही पेड़ पर एक बन्दर था, वो योगी जी की गोद में जाकर चुप चाप बैठ गया और योगी जी ने उसको केला और रोटी खिलाया। उसके बाद वो बन्दर हमेशा योगी जी के इर्दगिर्द घूमता रहा।

योगी जी के आवास में एक बिल्ली भी है जब योगी जी खाना खाना शरू करते है तब वो बिल्ली भी उनके साथ खाना खाती है। बिल्ली को खीर पसन्द है, इसलिए उसके स्वादानुसार मंदिर के भंडारे में हमेशा खीर पकाई जाती है।

योगी जी ने शेर के बच्चे को भी अपने गोद में खिलाया और दूध भी पिलाया है। डंडा बाबा ने बताया कि योगी जी के पास गिलहरी भी आती है। योगी जी ने एक कुत्ता पाला था उसका नाम शेरा था। उसकी कुछ दिन पहले मौत हो गई। जब उसकी मौत हुई तो योगी जी ने खाना ही नहीं खाया। अभी कुछ दिन हो रहे है योगी जी ने एक और कुत्ते को पाला है उसका नाम राजा है। योगी जी उसके साथ समय निकाल कर बहुत खेलते है।

लोगों के बीच अलग छवि रखने वाले योगी आदित्यनाथ के दिल में पशु और जानवरों के लिए एक अलग स्थान है।