सरकार के निलंबित करने से पूर्व ही मेडिकल कॉलेज के प्राचार्य ने दे दिया था इस्तीफा

गोरखपुर: जिस बीआरडी मेडिकल कॉलेज के प्रिंसिपल को योगी सरकार के दो मंत्रियों ने बाकायदा प्रेस कांफ्रेंस कर निलंबित करने की घोषणा की थी उस प्राचार्य ने पहले ही अपना इस्तीफा सरकार को भेज दिया था।

प्राचार्य आर के मिश्रा ने दोनों मंत्रियों के प्रेस कॉन्फ्रेंस से पहले ही अपने पत्रांक संख्या 1 888/ बी आर जी /एम सी 17 /स्टोनो/ दिनांक 12 अगस्त के संदर्भ में महानिदेशक पेंशन निदेशालय उत्तर प्रदेश 8वां तल इंदिरा नगर अशोक मार्ग लखनऊ के नाम पत्र भेजते हुए इस्तीफा दे दिया। जिसकी चर्चा दोनों ही मंत्रियों ने अपने प्रेस कांफ्रेंस के दौरान नहीं की।

मतलब साफ है कि बीआरडी मेडिकल कॉलेज के प्रिंसिपल के इस्तीफे के बाद ही उनके निलंबन की घोषणा की गई है। अब ऐसा आगे और किरकिरी से बचने के लिए किया गया या कोई और कारण था यह तो सरकार ही बता पायेगी।

हालांकि प्रिंसिपल साहब का वर्जन और तस्वीर लेने के कोशिश की जा रही है। लेकिन वह मोबाइल स्विच ऑफ करके बैठे हुए हैं।

प्राचार्य ने अपने इस्तीफे में लिखा है की आपको अवगत कराना है कि बीआरडी मेडिकल कॉलेज गोरखपुर में इंसेफेलाइटिस वार्ड नंबर 100 में 48 घंटे में हुई बच्चों की मृत्यु से मैं बहुत आहत हूं। इंसेफेलाइटिस वार्ड में बच्चों की हुई मृत्यु में मेरे द्वारा किसी प्रकार की लापरवाही अथवा कोई गलती नहीं की गई है ।मैं नैतिकता के आधार पर मेडिकल कॉलेज गोरखपुर के प्रधानाचार्य पद से अपना त्यागपत्र दे रहा हूं।