मेडिकल कॉलेज के प्रिंसिपल तत्काल प्रभाव से निलंबित

गोरखपुर: सूबे की योगी आदित्यनाथ सरकार ने मेडिकल कॉलेज में हुई मौतों के कारण बीआरडी मेडिकल कॉलेज के प्रिंसिपल को तत्काल प्रभाव से निलंबित कर दिया है। सरकार ने यह फैसला सूबे के स्वास्थ्य मंत्री सिद्धार्थ नाथ सिंह और चिकित्सा मंत्री आशुतोष टंडन द्वारा मेडिकल कॉलेज के समीक्षा दौरे के बाद किया।

एक प्रेस वार्ता को सम्बोधित करते हुए मंत्री आशुतोष टण्डन ने कहा की मुख्य सचिव की अध्यक्षता में एक हाई लेवल जांच कमेटी का भी गठन कर दिया गया है और कोई भी दोषी बक्शा नहीं जायेगा।

हालांकि बीते दो दिनों में हुई 30 मौतों के मामले में मंत्रियों द्वारा भी लीपापोती जारी रहा। उन लोगों ने भी इस बात पर ही जोर दिया की कोई भी मौत मेडिकल कॉलेज में ऑक्सीजन की कमी से नही हुई है।

वहीँ दूसरे मंत्री सिद्धार्थनाथ सिंह मीडिया के सवालों का जवाब देने से कन्नी काटते रहे। बाद में मंत्री मीडिया के सवालों से दूर होकर कांफ्रेंस ओवर होने की घोषणा करते हुए बाहर निकल गए।

इससे पहले लखनऊ में सूबे के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने अपने गृह जनपद के बीआरडी मेडिकल कॉलेज में दर्दनाक हादसे की गहन जांच का आदेश देते हुए सख्त कार्रवाई सुनिश्चित करने के निर्देश दिए।

उन्होंने यह निर्देश सूबे के स्वास्थ्य मंत्री सिद्धार्थ नाथ सिंह और चिकित्सा मंत्री आशुतोष टंडन दोनों को उनके गोरखपुर रवाना होने से पहले दिया। गौरतलब है की मेडिकल कॉलेज में पिछले 5 दिनों में 60 से ज्यादा मौतों की समीक्षा के लिए दोनों मंत्री लखनऊ से गोरखपुर के लिए रवाना हो गए हैं।

योगी से मिलने के बाद सिद्धार्थनाथ सिंह ने कहा की इस घटना के पीछे जो भी दोषी होगा उसे बक्शा नहीं जायेगा। उन्होंने कहा की मुख्यमंत्री खुद दो दिनों पहले मेडिकल कॉलेज का दौरा किये थे लेकिन उस समय भी कॉलेज प्रशासन ने उन्हें किसी बात की जानकारी नहीं दी।

उन्होंने विपक्ष से इस मुद्दे का राजनीतिकरण ना करने की अपील भी की। उन्होंने कहा की यह एक गंभीर मुद्दा है और विपक्ष को सरकार की आलोचना करनी चाहिए लेकिन इस मुद्दे का राजनीतिकरण नहीं करना चाहिए।