महराजगंज में योगी की बड़ी कार्रवाई, 11 अफसरों को सस्पेंड तो 7 का किया तबादला

महराजगंज: जिले में सूबे के मुखिया योगी आदित्यनाथ ने समीक्षा बैठक के दौरान बड़ी कार्रवाई करते हुए कार्य मे शिथिलता पाए जाने पर 11 अफसरों को निलंबित करते हुए 7 अफसरों का तबादला किये जाने का फरमान जारी कर दिया। और कहा कि सरकारी कार्य मे शिथिलता बर्दाश्त नहीं की जाएगी। पात्रों को अधिक से अधिक सरकार की योजनाओं से अधिकारी जोड़ें।

समीक्षा बैठक में योगी ने कार्य मे शिथिलता पाए जाने पर मातहतों को फटकार लगाते हुए एस ओ पुरन्दरपुर विनोद राय, एस ओ फरेंदा चन्द्रेश यादव, एस डी एम गिरीश चन्द्र श्रीवास्तव, एस डी एम नौतनवा, बीडीओ संजय श्रीवास्तव, ए ए ओ बेसिक रवि सिंह, जिला कृषि अधिकारी मोहम्मद मुजम्मिल, एक्स ई एन पी डब्ल्यू डी बी एन ओझा, जिला चिकित्सालय के डॉ अरशद कमाल, डॉ बाजपेई, और डॉ शैलेष कुमार सिंह को निलंबित करते हुए डी सी एन आर एन एम अशोक मौर्या, प्रभारी जिला कार्यक्रम अधिकारी गायत्री मिश्रा, एएमएएसओ ज्ञानेंद्र कुमार सिंह, डी एस ओ अमित तिवारी, एस ओ पनियरा सुधीर सिंह, एस ओ श्यामदेउरवा श्रीकांत राय तथा एस ओ कोठीभार रमाकर यादव के खिलाफ तबादले की कार्रवाई का आदेश दे दिया।

इसके पूर्व चेहरी स्थित आईटीएम के सभागार में पार्टी कार्यकर्ताओं की बैठक की। जिला पदाधिकारियो को संबोधित करते हुए उन्होंने कहा कि नकारात्मक चर्चा छोड़ सकारात्मक चर्चा जनता के बीच करें। शहरी गरीबों को आवास का लाभ सरकार ने देना शुरू कर दिया है। कल इसकी शुरुआत गोरखपुर से हुई। इसमे 1.5 लाख केंद्र सरकार देगी और 1 लाख प्रदेश सरकार देगी।

उन्होंने सरकार की उपलब्धियों पर कहा कि भाजपा की सरकार में पहली बार गेहूं क्रय केंद्रों से उचित रेट पर गेहू खरीदा गया है। गन्ना किसानों का बकाया भुगतान 23 हज़ार करोड़ का भुगतान कर दिया गया है शेष 2 हज़ार करोड़ का भुगतान करने की कार्य योजना बन चुकी है। जिसका दो से तीन माह में भुगतान कर दिया जाएगा।

इसके बाद योगी का काफिला घुघली पहुंचा जहां एक विद्यालय के शुभारम्भ के पश्चात उन्होंने चैनपुर के दलित बस्ती में आयोजित सहभोज में हिस्सा लिया। ततपश्चात सी एम योगी सिद्धार्थनगर के लिए रवाना हो गए।