क्राइम

बहन के साथ आपत्तिजनक हाल में देखा तो कर दी दोस्त की हत्या

the-accused-with-the-policeगोरखपुर: कहते हैं बुरे काम का बुरा नतीजा। कुछ इसी तरह की घटना बेलघाट थाना क्षेत्र के एकौना निवासी राकेश राय के साथ हुआ। जिसने बिना सोचे समझे गांव की एक अंतर्जातीय युवती को दिल दे दिया और प्यार मोहब्बत में ही अंतरंग संबंध बना बैठे।
यह प्यार कुछ दिन और चलता, इसके पहले ही युवती के भाइयों ने दोनों को आपत्तिजनक हालत में पकड़ लिया और अपनी इज्जत से खिलवाड़ करने के आक्रोश में राकेश राय को मार पीट कर हत्या कर थानाक्षेत्र के ही कम्हरिया घाट स्थित नदी के बीच धारा में फेंक दिया।
इसका खुलासा आज तब हुआ, जब पुलिस ने मुखबिर की सूचना पर घटना के मुख्य आरोपी व लड़की के भाई श्यामू यादव को सोपाई घाट पुल स्थित पेट्रोल पंप से गिरफ्तार किया । पुलिस की पूछताछ में श्यामू यादव ने घटना की स्वीकारोक्ति भी किया है।
बता दें कि थाना बेलघाट क्षेत्रांतर्गत के भी कमर्शियल मिक्स प्लांट पर कार्यरत राकेश राय पुत्र स्वर्गीय हीरा राय निवासी ग्राम एकौना थाना बेलघाट जनपद गोरखपुर के दिनांक 23 अक्टूबर 2016 को अपहरण कर लिए जाने के संबंध में वादी उमेश राय पुत्र स्वर्गीय श्रीकृष्ण राय निवासी कन्हैया थाना बांसगांव जनपद गोरखपुर की तहरिरी सूचना के आधार पर दिनांक 27 अक्टूबर को मुकदमा अपराध संख्या 338 / 16 धारा 364 भा द वि पंजीकृत किया गया।
जिस की विवेचना एस ओ बेलघाट द्वारा की जा रही थी। जिसमें 1 नवंबर 2016 राकेश राय पुत्र स्वर्गीय हीरा राय की लाश थाना बेलघाट क्षेत्रांतर्गत कमरिया घाट से मिलने के पश्चात श्रीनाथ होने के बाद उपयोग में धारा 302 / 201 आईपीसी में तरमीम कर दिया गया तथा विवेचना से अभियुक्त श्यामू यादव पुत्र शंकर यादव ग्राम एकौना थाना बेलघाट का नाम प्रकाश में आया।
जिसकी गिरफ्तारी के लिए बेलघाट पुलिस प्रयासरत थी की आज जयवीर सूचना मिली की मुख्य अभियुक्त श्यामू यादव पुत्र शंकर यादव रोपाई घाट पेट्रोल पंप के पास कहीं बाहर निकलने की फिराक में खड़ा है। मुखबिर की सुचना पर विश्वास करते हुए एस ओ बेलघाट ने मय दलबल पेट्रोल पंप के पास घेराबंदी करके अभियुक्त श्यामू यादव पुत्र शंकर यादव को गिरफ्तार कर लिया।
पुलिसिया पूछताछ में श्यामू यादव ने बताया कि केडी कमर्शियल मिक्स प्लांट पर काम करने वाले राकेश राय से उसका मित्रवत व्यवहार व परिचय था। 21/ 22 अक्टूबर की रात को उसने राकेश राय को अपनी बहन के साथ आपत्तिजनक हालत में देख लिया था। उसी समय उनलोगों ने मिलकर उसे लात घूसों तथा डंडे से मार कर हत्या कर दिया। बाद में रात में ही राकेश राय की लाश को ट्रैक्टर ट्राली पर लादकर कम्हरिया घाट पर ले जाकर नदी की धारा में फेंक दिया।

Related Posts

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *