पुलिसिया कार्यवाही के विरोध में छात्रसंघ महामंत्री ऋचा चौधरी ने निकाला मार्च, दिया ज्ञापन

TIME
TIME
TIME

गोरखपुर: दीदउ विश्वविद्यालय में गत 8 मार्च को हुई पुलिसिया कार्यवाही के विरोध में सोमवार को डीडीयू विवि के छात्रसंघ महामंत्री ऋचा चौधरी ने विवि परिसर से डीएम कार्यालय तक अहिंसक, शांतिपूर्ण मार्च निकालकर दोषियों पर कार्यवाही और घटना के आरोपी छात्रों पर लगे मुकदमे वापस लेने की मांग करते हुए ज्ञापन सौंपा।

बता दें कि गत 8 सितम्बर को डिप्टी सीएम के आगमन और चुनाव निरस्त किये जाने के बयान के बाद विवि परिसर में पुलिस प्रशासन और छात्रों में भिड़ंत हुई थी। जिसमे पुलिस ने लाठीचार्ज कर 27 नामजद और 100 अज्ञात के खिलाफ गम्भीर धाराओं में कैंट थाना में मुकदमा दर्ज किया है।तब से ही विश्वविद्यालय परिसर में सन्नाटा पसरा हुआ है।

आज सोमवार को छात्रसंघ महामंत्री ऋचा चौधरी ने अन्य छात्रों संग डीडीयू गोरखपुर विश्वविद्यालय गेट से अहिंसक एवम् शांतिपूर्ण मार्च निकाल कर जिलाधिकारी कार्यालय तक जाकर जिलाधिकारी को 8-सितम्बर को विश्वविद्यालय में हुए प्रशासनिक तानाशाही के खिलाफ ज्ञापन सौंपा और जल्द से जल्द छात्रों पर लादे गए मुक़दमे को वापस लेने का आग्रह किया गया है।

ज्ञापन में उन्होंने कहा है कि इस घटना में लिप्त उनसभी तानाशाह पुलिसकर्मियों पर कार्रवाई की जाए। जिन्होंने निर्दोष छात्रों पर लाठी चलाई औरछात्रावास में घुस कर छात्रों को पीटा एवम् विश्वविद्यालय छात्रा वास को नुकसान किया।उन्होंने कहा कि दीन दयाल उपाध्याय गोरखपुर विश्वविद्यालय के प्रशासनिक भवन पर छात्रों एवं छात्र नेताओं द्वारा चुनाव न कराए जाने के नाते हो रहे धरने पर पुलिस द्वारा की गई लाठीचार्ज की कार्यवाही की मैं घोर निंदा करती हूँ।

उन्होंने कहा कि उससे भी ज्यादा निंदनीय कृत्य पुलिस प्रशासन द्वारा छात्रावासों में घुसकर तथा वहां पर रह रहे आम छात्रों को डराना धमकाना, उनके साथ क्रूर व्यवहार तथा पूरे छात्रावास परिसर में भय का माहौल पैदा करना है।पूरे प्रकरण में पुलिस प्रशासन और विश्वविद्यालय के जिम्मेदार लोगों की भूमिका निसंदेह ही प्रश्नों के घेरे में है।

शांतिपूर्ण मार्च में उनके साथ अभिषेक सिंह, नरेन्द्र यादव (पूर्व संकाय अध्यक्ष), अनूप मद्धेसिया (छात्र नेता), हरेनद्र यादव, अजय मिश्रा, यशपाल सिंह तथा अन्य सम्मानित छात्र मौजूद थे।