पूर्वांचल में योगी के भगवा गमछे की बढ़ी डिमांड

महराजगंज: गर्मी के धमक के साथ प्रदेश के मुख्यमंत्री आदित्यनाथ योगी का जलवा कहें या फिर सत्ता परिवर्तन का असर कि कुछ समय पहले जहां इक्का दुक्का लोग अपने गले में भगवा रंग का गमछा लेकर चलते थे, वहीं अब चहुंओर भगवा रंग का गमछा ही नजर आ रहा है। पहले तो भगवा गमछा हिन्दू युवा वाहिनी के कार्यकर्ता ही लगाते थे। पर अब चाहे वह विधायक हों या भाजपा पार्टी के कार्यकर्ता, सभी भगवा गमछे के दीवाने हो गए हैं।

इधर भगवा कलर का गमछा बाजार में कई वराईटी में उपलब्ध है। जो गमछा कुछ माह पहले 80 रूपये में मिल रहा था आज वह 140 रूपये का हो गया है। बाजार में 60 रूपये से लेकर 500 रूपये तक यह गमछे पोलिस्टर, सिल्क, काटन व मिक्स में उपलब्ध बाजार में उपलब्ध है।

जिसका आलम यह है कि पूर्वांचल के लगभग सभी जिलों में सडकों पर फर्राटा भर रही लग्जरी गाडियों के अन्दर बैठे लोग भी भगवा रंग के गमछे में नजर आ रहे हैं। भाजपा महिला कार्यकर्ता भी अपने कन्धों पर भगवा गमछा ही ले कर चल रही हैं।

हिन्दू संगठनों के लोगों का कहना है कि यह कोई नयी परम्परा नही है बल्कि खुद को शासन सत्ता का करीबी होने का दावा दिखाने वाले लोग हर सरकार में इस तरह के प्रतीकों का प्रयोग करते हैं।

हियुवा के वरिष्ठ कार्यकर्ता दिग्विजय खरवार व कृष्णानंदन पुरी का कहना है कि समाज में खुद को सत्ता का प्रतिनिधि घोषित करने और अपना रौब दिखाने के लिए कुछ लोग इस तरह का कार्य हर सरकारों में करते रहते हैं और बदलते शासन सत्ता के साथ वह खुद को फिर से बदल लेते हैं।