बाहुबली अतीक अहमद के यहाँ शिफ्ट होने के बाद 1952 की बनी देवरिया जेल की सुरक्षा होगी और मजबूत

TIME
TIME
TIME

देवरिया: अब तक शांत जेल के रूप में पहचान बनाने वाली 1952 की बनी देवरिया जिला जेल की सुरक्षा शीर्ष अधिकारियों के निर्देश पर और मजबूत की जायेगी। इसके तहत जेल में 6 जैमर लगायें जायेंगे।

गौरतलब है की कुछ ही दिनों पहले बाहुबली नेता और पूर्व सांसद अतीक अहमद को शासन के निर्देश पर इलाहाबाद के नैनी जेल से देवरिया जेल में शिफ्ट किया गया है। इसके बाद जेल की भी गिनती हाई प्रोफाइल जेलों में होने लगी है। जेल की सुरक्षा के लिये जेल पर पीएसी की स्थायी रूप से तैनाती कर दी गई है।

1952 में बनी जेल की क्षमता 533 बंदी रखने की है। कुशीनगर में जेल न होने से यहां के भी बंदी इसी जेल में बंद होते हैं। वर्तमान में इस जेल में करीब 1500 सौ बंदी बंद हैं। इस जेल की सुरक्षा के लिये जेल प्रशासन और पुलिस प्रशासन गम्भीर हो गया है।

अब तक इस जेल में जैमर की ब्यवस्था न होने से तमाम सख्ती के बाद भी बंदी चोरी छिपे मोबाइल सेल फोन से बात चीत करने की शिकायत मिलती रहती थी। अतीक अहमद के यहां आने पर जेल उप महानिरीक्षक (डीआईजी) सहित अनेक अधिकारियों का दौरा इस जेल में हो चुका है और जेल डीआईजी ने जेल में जैमर लगाने की संस्तुति की थी, जिसमें आधा दर्जन जैमर लगाने की मंजूरी मिल गई है।

इस सम्बन्ध में जेल अधीक्षक रंग बहादुर पटेल ने कहा कि जेल में जैमर लग्ने की मंजूरी मिल गई है। लेकिन यह कबतक लग जायेगा, अभी इसकी जानकारी नहीं है।