देवरिया / कुशीनगर

सलेमपुर में राजनाथ सिंह बोले, चौदह वर्ष के वनवास के बाद उत्तर प्रदेश में खिलेगा कमल

rajnath-singh-in-salempurदेवरिया: केंद्रीय गृह मंत्री राजनाथ सिंह ने आज पूर्व सांसद हरिकेवल प्रसाद की चौथी पुण्यतिथि पर आयोजित श्रद्धांजलि सभा में बोलते हुये कहा कि उत्तर प्रदेश में भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) चौदह वर्ष के वनवास के बाद जनता के आशीर्वाद से फिर सत्ता में आकर प्रदेश में विकास को नया आयाम देगी।
श्री सिंह ने देवरिया से तीस किलोमीटर दूर सलेमपुर में बोलते हुये कहा कि आज उत्तर प्रदेश की हालत गैर भाजपा सरकारों के कारण दयनीय हो गई है। अपराध का यहां बोलबाला होता जा रहा है। महिलाओं पर अपराध बढ़ रहे है। विकास कार्य ठप्प हैं। अब प्रदेश में पुलिस कर्मियों पर हमले होते जा रहे है।
उन्होंने कहा कि प्रदेश की पुलिस तो काफी तेज तर्रार है लेकिन राजनीति करण के कारण पुलिस को अपने कार्य करने में असहज स्थित का सामना करना पड़ जाता है। गृह मंत्री ने कहा कि उनका मानना है कि अगर पुलिस बल को राजनीति से दूर कर दिया जाय तो उत्तर प्रदेश पुलिस बड़े से बड़े अपराधियों को उनके उनके छठ्ठी का दूध याद कराकर उनको कानून के शिकंजे में ला देगी।
श्री सिंह ने कहा कि आज केन्द्र की मोदी सरकार देश में विकास की धारा बहा रही है। भारत के ओजस्वी प्रधान मंत्री अटल बिहारी वाजपेयी ने अपने कार्यकाल में देश में सड़कों का जाल बिछाया था उसी कार्यक्रम को आगे बढ़ाने का कार्य मोदी सरकार कर रही है। आज पूरे देश में प्रतिदिन 13 किमी सड़क रोज बन रही है। इस बर्ष 2016 में 840 नेशनल हाईवे बनकर तैयार हैं तथा 811 हाईवे बनाई जा रही हैं।
श्री सिंह ने कहा कि आज उत्तर प्रदेश में बहुत से किसानों को सूखा, बाढ़ तथा अन्य आपदा से क्षतिग्रस्त फसलों का मुआवजा नहीं मिल सका है। इसके लिये केन्द्र सरकार ने जितनी धनराशि प्रदेश सरकार को भेजी है। उनती धनराशि शायद इसके पहले किसी अन्य केन्द्र सरकार ने नहीं दिया है। जनता को सवाल करना चाहिए कि उनका मुआवजा गया कहा।
उन्होंने कहा कि केन्द्र के सवा दो साल के शासन काल में एक भी भष्ट्राचार के मामले नही आये और न ही इस तरह के समाचार अखबारों की सुर्खियां बनी। इसके बिपरीत यूपीए के शासन काल में भष्ट्राचारों का बोलबाला होता रहता था।
भारत के सुरक्षा पर कहा कि केन्द्र सरकार गठन के बाद सीमा पर पाक सैनिकों की गोलीबारी हमारे सैनिकों पर की गई जिसमे कुज जवान घायल हो गये थे ।हमारे द्वारा सैन्य अधिकारियों से पूछने पर कि गोलीबारी का जबाब कैसे दिया गया तो अधिकारी ने बताया कि हमारे जवानों द्वारा सफेद झन्डा लहराकर गोलीबारी रोकने का निर्देश दिया गया था। तब हमने आदेश दिया कि हमारे तरफ से पहले गोलीबारी नहीं होगी। अगर सीमा पार से गोलीबारी होती है तो इतनी गोली बरसाओं की दुश्मन का कलेजा दहल जाय। पहले अपने जवानों को गोली चलाने के लिये आदेश लेने पड़ते थे। आज दुश्मन के एक गोली जबाब हमारे जवान सैकड़ों गोलियों से देता है।

Related Posts

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *