देवरिया / कुशीनगर

कुशीनगर: जनपद में भीषण ठंड का प्रकोप, जनजीवन अस्त-व्यस्त

मोहन राव
कुशीनगर: जनपद में लगातार बह रही तेज पछुआ हवा के चलते तापमान मे गिरावट आ रहा है। ठण्डक के चलते लोग अपने घरो मे दुबके रहे। बुधवार को सुबह से ही सूर्य की किरणें घने बादलों के बीच से नहीं निकली। यहां बताते चलें कि तराई क्षेत्र तथा हिमाचल के नजदीक होने के कारण जनपद में ठंड ज्यादा पड़ती है।

लगातार पड़ रही कड़ाके की ठंड के साथ जहाँ घना कोहरा छाया हुआ है वहीं हाड़ कपाती ठंड ने आम आदमी का जन जीवन अस्त-व्यस्त कर दिया है और पशु पक्षी भी ठंड से व्याकुल होकर अपने घोंसले से बाहर नही निकल रहे। इस ठंड से चैराहो, बाजारो के साथ ही शहरो मे सन्नाटा पसर गया है तो दुकानदार अपने दुकानो पर बैठकर अलाव सेकते नजर आ रहे है।

जहाँ ठंड का प्रकोप जारी है वही सुबह मे घने कोहरे से दुर्घटनाये घटने की प्रबल आशंकाये बढ़ने लगे है। गलन भरी बर्फीली हवाओ के कारण लोग घरो मे दुबकने को मजबुर है। वैसे तो नगर पंचायत में प्रशासन द्वारा अलाव की व्यवस्था की गई है। फिर भी चौराहे पर लोग गत्ता, कागज, आदि जलाकर किसी तरह ठंड से बचने का प्रयास कर रहे है।

अचानक मौसम ने ऐसा रंग बदला कि सोमवार से लेकर अब तक पछुआ हवाओ के साथ गलन ने ठंड बढ़ा दी है। शहरो और बाजारो मे ठंड के मौसम ने अपना रंग दिखलाया और बाजारो, चैराहो मे सन्नाटा सा हो गया है। सुबह से लेकर शाम तक सुरज की किरणे नही दिखाई दी।  दुकानो मे दुकानदार जहाँ अलाव सेकते नजर आ रहे है वहीं ग्रामीण क्षेत्रो मे किसान ठंड की परवाह न कर अपने खेतो मे काम करने को मजबुर है।

सरकारी कर्मचारी अपने दफ्तरो मे आकर कैद हो जा रहे है और बाहर निकलने का नाम नही ले रहे है। सबसे दयनीय स्थिति ग्रामीण क्षेत्र मे है जहाँ निर्बल और असहाय ठंड से कांप रहे है हालांकि जिला प्रशासन से लेकर जनप्रतिनिधि भी अलाव जलवा  रहे है। गरीबों में कंबल वितरित किया गया है और कंबल की व्यवस्था में प्रशासन लगा है।

Related Posts

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *