देवरिया / कुशीनगर

कुशीनगर: नवोदय विद्यालय के आधा दर्जन बच्चे डेंगू की चपेट में, दहशत में छात्र

आदित्य कुमार दीक्षित
कुशीनगर: जनपद के पडरौना तहसील क्षेत्र के ग्राम रसूलपुर बेलही स्थिति नवोदय विद्यालय में आधा दर्जन से अधिक छात्र-छात्राओं के डेंगू के चपेट में आने की सुचना है। जानकारी के अनुसार विद्यालय के प्रधानाचार्य ने छात्र-छात्राओं को बिना प्राथमिक उपचार कराये उनके परिजनों को बुलाकर उन्हें घर भेज दिया है।

बता दें कि विद्यालय झाड़ और गंदगी से पटे होने की वजह से डेंगू जैसी बीमारियां तेजी से पांव पसारना चालू कर दिया है, लेकिन प्रधानाचार्य द्वारा इस संबंध में जिला प्रशासन को किसी प्रकार की भी लिखित सूचना से अवगत नहीं कराया गया है। वहीं विद्यालय में अध्ययनरत छात्र-छात्रायें इस बीमारी के फैलने से दहशतजदा हैं, लेकिन विद्यालय प्रशासन द्वारा कोई भी ठोस पहल नहीं किया जा रहा है, जिससे इस बीमारी पर काबू पाया जा सके।

जब विद्यालय में पहुंच कर इस संवाददाता ने इस संबंध में जानकारियां हासिल करनी चाही तो प्रधानाचार्य ने बताया कि जिन बच्चों के बुखार जैसे लक्षण दिखाई दे रहे हैं, उन्हें जिला अस्पताल में प्राथमिक उपचार के बाद डेंगू बीमारी की बात सामने आने पर परिजनों को बुला सुपुर्द कर दिया जा रहा है। उन्होंने बताया कि करीब दो दर्जन छात्र-छात्राओं को उनके घर भेजा जा चुका है तथा सभी सूचना अफसरों को दे दिया गया है।

विद्यालय में नालियों से लेकर चारों तरफ फैली गंदगी के बारे में जब उनसे पूछा गया तो प्रिंसिपल सही जवाब देने से कतराते रहे,और बहुत से सवालों का जवाब देने से परहेज किया, उनसे यह भी पूछा गया कि इस घटना की सूचना आपके द्वारा ऊपर के अधिकारियों को दी गई है कि नहीं तो उन्होंने कहा कि इसकी सूचना ऊपर दे दी गयी है, लेकिन प्रधानाचार्य ने इसका रिसीविंग दिखाने से इंकार कर दिया। प्रधानाचार्य ने बताया की अधिकांश छात्रों को तेज बुखार आने पर उन्हें घर भेज दिया गया है। जिसमें श्याम, अखिलेश, अभिजीत आठवीं का छात्र है वहीं अभिनाश मौर्या जो कक्षा छः के छात्र हैं तथा अन्य और छात्रों का नाम बताने में प्रधानाचार्य आनाकानी करने लगे।

Related Posts

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *