देवरिया / कुशीनगर

शेल्टर होम केस: सीएम द्वारा सीबीआई को केस सौंपने के बाद देवरिया पुलिस जांच को लेकर हुई और सतर्क

देवरिया: जिले में एक महिला संरक्षण गृह में हुए सेक्स कांड की जांच तेज हो गई है। मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ के आदेश के बाद बालगृह बालिका से जुड़े सेक्स रैकेट की जांच पड़ताल में गोरखपुर एसटीएफ की यूनिट ने भी पड़ताल शुरू कर दी है। सूत्रों के अनुसार मुख्यमंत्री के निर्देश पर गठित एसआईटी टीम भी जल्द ही यहां आकर अपनी पड़ताल शुरू कर सकती है।

इस केस की गम्भीरता को देखते हुये सूबे के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ मामले की जांच कराने के लिये देश की शीर्ष जांच एजेंसी सीबीआई को सौंपने का निर्णय कर चुके हैं। सूत्रों के अनुसार सीबीआई को मामला सौंपे जाने से देवरिया पुलिस विभाग और अधिक चैतन्य हो गया है। पुलिस अपनी जांच में एक एक बिन्दु को प्रमुखता से रखने लगी है, ताकि सीबीआई जांच में स्थानीय पुलिस की किरकिरी न हो सके।

पुलिस बालिका गृह के आसपास के दुकानों में लगे सीसीटीवी कैमरों की फुटेज की भी जांच शुरू कर दी है कि अगर कुछ साक्ष्य मिले तो उसे पुलिस विवेचना में शामिल किया जा सके।

बता दें कि गुरूवार को यहां राष्ट्रीय बाल आयोग अधिकार के सदस्य डाक्टर आर जी आनंद और राज्य बाल आयोग की सदस्य डाक्टर प्रीती वर्मा ने बालिका गृह काण्ड का निरीक्षण करने पहुंचे थे। टीम के सदस्यों ने चर्चित माँ विंध्यवासिनी बालिका गृह स्टेशन रोड का जायजा लिया। उसके बाद वे राजकीय बाल गृह पहुंचे जहाँ उन्होंने बालिका गृह के मुक्त हुए बच्चियों से मुलाकात की।

डाक्टर आर जी आनंद ने बताया कि हम लोग निरीक्षण और जांच के उदेश्य से आज यहां आये हैं।हम लोगों ने यहां देखा की सभी बच्चें जो मुक्त कराये गए है। उन्हें बहुत ही अच्छे माहौल में रखा गया है।सरकार ने बहुत ही प्रभावी एक्शन लिया है ,सभी बच्चे बहुत खुश हैं। मै इसकी रिपोर्ट आयोग को प्रेषित करूंगा।  एक घण्टे के अंदर बच्चों को रेस्क्यू किया गया वह जिला प्रशासन और पुलिस प्रशासन द्वारा अच्छा काम किया।

Related Posts

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *