देवरिया / कुशीनगर

कुशीनगर: नगरपालिका की शह पर अवैध कब्जा कर निर्माण करा रहा दबंग व्यवसायी

आदित्य कुमार दीक्षित
कुशीनगर: सूबे के मुखिया योगी आदित्यनाथ अवैध कब्जाधारियों के खिलाफ चाहे जितना भी कड़ा कानून बना लें लेकिन उनके मातहत ही उनकी कमर तोड़ने पर आमादा हैं। प्रदेश में अवैध भूमि अधिग्रहण माफियाओं के खिलाफ चल रहे अभियान के बाद भी अवैध कब्जाधारी सत्ताधारी पार्टी के नेताओं के शह पर ही अवैध कब्जा किये बैठे हैं और उन्हें बोलने वाला कोई नहीं है।

हम बात कर रहे हैं कुशीनगर जनपद के पडरौना नगर में हुए एक अवैध कब्जे पर हो रहे बिल्डिंग निर्माण की। पडरौना नगर में प्रवेश करने पर नहर के आगे गांधी चौक मूर्ति से सटे राष्ट्रीय राजमार्ग 28बी के पास नगरपालिका का एक नाला बहता है। उसी नाले से सटे पडरौना के एक प्रसिद्ध दबंग व्यवसायी अशोक केडिया की जमीन है। जिसमें स्टेट बैंक ऑफ इंडिया है। कुछ जमीन खाली पड़ी थी।

अब कुछ दिन पहले नगरपालिका चुनाव के बाद जब सत्ता परिवर्तन हो गया तो अशोक केडिया जो कि उस नाले तथा पीडब्ल्यूडी की जमीन पर अपनी गिद्ध जैसी नजर गड़ाये बैठा था उस जमीन की तरफ हाथ बढ़ाना शुरू किया और नगरपालिका के मुखिया को अपने फेवर में करके उस नाले को तोड़ कर अपने कब्जे में लिया। नाले को सड़क की तरफ थोड़ा सा घुमा कर सड़क की जमीन में बनवा दिया।

इस सम्बन्ध में नगरपालिका के कुछ सभासद कुछ दिन पहले धरने पर बैठे तो सत्ता की धौंस दिखाते हुए धरना कर रहे उन नागरिकों व सभासदों के ऊपर पुलिस द्वारा लाठीचार्ज करवाया तथा कुछ सभासदों पर मुकदमा लिखवा कर उन्हें जेल भिजवा दिया। जिससे कि नगरपालिका अपनी मनमानी कर सके और इनकी आवाज को दबाया जा सके और हुआ भी यही धरना कर अवैध कब्जा निर्माण का विरोध कर रहे सभासदों के जेल जाने के बाद अवैध कब्जाधारी दबंग अपनी मनमानी करने में कामयाब हो गया और उस पीडब्ल्यूडी की जमीन पर निर्माण कार्य शुरू हो गया।

35 लाख में हुआ नगरपालिका नाले का सौदा

सूत्रों से मिली जानकारी के अनुसार उस नगरपालिका की नाली का सौदा 35 लाख में नगरपालिका से दबंग अशोक केडिया द्वारा किया गया है। इसके पहले चैयरमैन रहीं शिवकुमारी देवी से भी अशोक ने इस नाली का सौदा करने की कोशिश की थी लेकिन उसकी सारी कोशिश बेकार हो गयी। अंततः उसने नगरपालिका के खिलाफ़ हाईकोर्ट में एक मुकदमा दाखिल किया लेकिन वहां भी इस दबंग अशोक की हार हो गयी। उसके बाद उसने तिकड़ी खेली और इस वर्ष हुए नगरपालिका चुनाव के बाद इसने नगरपालिका अध्यक्ष को अपनी तरफ मिलाकर 35 लाख में इस नाले का सौदा कर कब्जा कर लिया।

Related Posts

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *