देवरिया / कुशीनगर

VIDEO देवरिया: भारी विरोध के बीच दुकानों पर चले बुलडोजर, फोरलेन निर्माण के लिए हटा अतिक्रमण

विकास द्विवेदी
देवरिया: जिले के सिविल लाइन रोड पर अतिक्रमण कर बनाई गई तीन दर्जन से ज्यादा दुकानों पर आज प्रशासन का बुलडोजर चला। इस दौरान व्यापारियों ने काफी विरोध भी किया। हालांकि पुलिस की मुस्तैदी के कारण विरोध को दबा दिया गया। इस दौरान तोड़ी गई दुकानों में 22 नगर पालिका की और 8 रामजानकी मंदिर से संबंधित हैं।

जानकारी के अनुसार प्रशासन ने सडकों को चौड़ा करने के लिए अतिक्रमण हटाने का निर्णय लिया था। बता दें कि गोरखपुर से देवरिया होते हुये बलिया तक सड़क चौड़ी कर फोरलेन का निर्माण हो रहा है। इसी चौड़ीकरण की जद में आने वाली दुकानों और मकानों को गिराने आज सुबह ही बुलडोजर के साथ पीडब्लू के अधिकारी, सदर SDM रामकेश यादव, सीओ सीताराम गुप्ता, कोतवाल विजय नारायण के साथ भारी पुलिस बल मौके पर पंहुची।

जैसे ही दुकानों पर बुलडोजर चलाना शुरू हुआ लोगों ने भारी विरोध शुरू कर दिया। चारो और अफरा-तफरी मच गयी। हालाकि पुलिस ने किसी की एक नहीं सुनी और सभी लोगों को सख्ती बरतते हुए हटा दिया गया। शहर के रामजानकी मंदिर के समीप से लेकर कोआपरेिअव बैंक के आखिरी छोर तक लोक निर्माण विभाग की जमीनों पर नगर पालिका द्वारा दुकानों का निर्माण कराया गया है। वहीं कुछ लोग दुकान बनाकर कर रह रहे हैं।

दूसरी तरफ दुकानदारों का कहना था कि वो पिछले 40 वर्षों से इसी दुकान के माध्यम से अपनी आजीविका चलाकर जीवन यापन कर रहे हैं। उन्हें दो दिन पूर्व ही नोटिस मिली और आज बिना कुछ कहे पुलिस बुलडोजर के साथ दुकानों को तोड़ने आ गयी जो कि सरासर गलत है।

वहीँ इस मुद्दे पर बात करते हुए देवरिया सदर SDM रामकेश यादव ने बताया कि ये दूकानदार पीडब्लू की जमीन पर पिछले कई वर्षों से अवैध रूप से कब्जा किये हुये थे जिन्हें आज हटाया जा रहा। उन्होंने कहा कि जहाँ कहीं भी अतिक्रमण होगा उसे खाली कराया जायेगा। बता दें कि इन दुकानों के चलते लोक निर्माण विभाग का सड़क चौड़ीकरण कार्य पूरा नहीं हो पा रहा है। इन दुकानों को हटाने के लिए लोक निर्माण विभाग ने नगरपालिका को नोटिस भी दी थी। लोक निर्माण विभाग के हिस्से में जितनी जमीन है उतना विभाग अपने कब्जे में ले रहा है।

Related Posts

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *