देवरिया / कुशीनगर

बरहज में मिली लावारिश बच्ची मिली, बारा दीक्षित के एक युवक ने दिया मानवता का परिचय

देवरिया: जनपद के बरहज तहसील में सोमवार शाम को बारा दिक्षित चौराहे के दक्षिण बगीचे में जो महुआबारी के नाम से प्रचलित है, देर शाम एक लावारिश बच्ची किसी अज्ञात ने छोड़ दिया था। बच्ची के रोने की आवाज सुन कर किसी ने बारा दिक्षित चौराहे पर लोगों को खबर दिया।
उसके पश्चात लोगों के एक का हुजूम उस स्थल पर पंहुच गया। नवजात की उम्र 2 से 3 महीने के बीच की बताई जा रही है। लड़की की पहचान ना होने पर लोगों ने तुरंत पुलिस को खबर दी।
बहरहाल पहचान न होने के कारण बारा दिक्षित निवासी चन्दन दिक्षित ने मानवता का परिचय देते हुए उस लड़की को अपने पास रख उसके पालन पोषण की जिम्मेदार ली।
जहाँ एक तरफ हमारे प्रधान मंत्री के बेटी बचाओ अभियान की तारीफ पूरा भूमंडल कर रहा है, वही हमारे समाज में आज भी कुछ लोगो के लिए बेटियां बोझ है। इस संवाददाता का इस क्षेत्र से गहरा नाता होने के कारण इस क्षेत्र के युवाओ के मानवतावादी मंतव्य से भली भाति परिचित हैं। इस तरह का नेक कार्य करना यहाँ के युवाओ के खून में है।
फिर भी जेहन में एक सवाल जरूर आता है की जहा चन्दन दिक्षित जैसे मानवतावादी इंसांन हमारे समाज में है, उसी प्रकार कुछ लोग ऐसे मानसिक विकृति के है जो नन्ही सी जान को सड़क पर छोड़ने के पहले कालेज पर पत्थर रख लेते है।
बहरहाल समाचार लिखे जाने तक नवजात चन्दन दिक्षित के पास सकुशल है।

Related Posts

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *