देवरिया / कुशीनगर

सलेमपुर से विजय लक्षमी गौतम निर्दल लड़ेंगी चुनाव, बिगाड़ सकतीं हैं बीजेपी का समीकरण

सलेमपुर(संदीप त्रिपाठी): भाजपा से टिकट ना मिलने से निराश विजय लक्षमी गौतम पार्टी के आधिकारिक उम्मीदवार के खिलाफ निर्दलीय चुनाव मैदान में उतर सकतीं हैं। उनके चुनाव मैदान में उतरने से सलेमपुर विधान सभा में बीजेपी का समीकरण बिगाड़ सकती हैं।
गौरतलब है की 2012 के चुनाव में सुरक्षित हुयी इस विधान सभा से बीजेपी के उम्मीदवार के रूप में चुनाव लड़ कर विजय लक्ष्मी मामूली अंतर से चुनाव हार गयीं थीं। उसके बाद लगातार पांच सालो तक जनता के बीच रहने के बाद टिकट की प्रमुख दावेदार थीं। पार्टी ने इसबार उनकी जगह सलेमपुर से सांसद रविन्द्र कुशवाहा के करीबी काली प्रसादःको उम्मीदवार बना दिया।
अब विजय लक्ष्मी ने पार्टी के उम्मीदवार के विरोध में निर्दल मैदान में आने का निर्णय लिया है। फाइनल रिपोर्ट से विशेष बातचीत में श्रीमती गौतम ने कहा की बीजेपी ने मुझे टिकट न दे कर बीजेपी के कार्यकर्ताओ का अपमान किया है।
उन्होंने कहा की दो साल पहले सांसद बनने के लिए सपा से बीजेपी में आये व्यक्ति को पार्टी ने उम्मीदवार बना दिया। उन्होंने कहा की आज भी सांसद महोदय सपा के लोगों के संपर्क में है और उनके घर पे झाड़ू पोछा लगाने वाले को पार्टी ने टिकट दिया।
उन्होंने कहा की बीजेपी में आये बाहरी लोगो को हटाने के लिए और पार्टी के निराश कार्य र्ताओ के और यहाँ के लोगो के सम्मान को बचाने के लिए मैं एक बार फिर जनता की अदालत में आ गयी हूँ।
श्रीमती गौतम ने कहा की जिस तरह से लोगों का प्यार और समर्थन मिल रहा है मैं चुनाव जीत के बीजेपी और सांसद महोदय को जबाब दूंगी।
बहरहाल चुनाव परिणाम जो भी हो सलेमपुर जैसी स्थिति बनी है वो बीजेपी और सांसद दोनों के लिए मुश्किल खड़ी कर सकती है। अब यह सीट बीजेपी से ज्यादा सांसद महोदय की प्रतिष्ठा से भी जुड़ गया है जो खुद अपने करीबी उम्मीदवार को चुनाव लड़ा रहे है।

Related Posts

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *