देवरिया / कुशीनगर

देवरिया में कार्रवाई से नाराज रोडवेज कर्मियों की हड़ताल ARM के आश्वासन के बाद समाप्त

देवरिया रोडवेज कर्मियों की हड़ताल

देवरिया: जिले में रोडवेज के संविदा चालक और परिचालक को नौकरी से हटाने से खफा रोडवेज कर्मियों ने आज हड़ताल कर दी। देवरिया रोडवेज कर्मियों की हड़ताल ARM के आश्वासन के बाद समाप्त हो गई है।

रोडवेज सूत्रों से मिली जानकारी के अनुसार 21 दिसम्बर को देवरिया डिपो की बस नम्बर यूपी 53 एटी-5687 जो देवरिया से प्रदेश के कृषि मंत्री सूर्य प्रताप शाही के गांव पकहां तक चलती है।21 दिसम्बर की रात पकहां से रात में चोरी हो गई थी और बस अगले दिन 22 दिसम्बर को कुशीनगर जिले से बरामद हुई थी।

बताया जाता है कि इस मामले में बस के परिचालक आलोक कुमार यादव और चालक राजेश को कार्य में लापरवाही बरतने के आरोप में रोडवेज के अधिकारियों ने उनको नौकरी से हटा दिया था। आज देवरिया रोडवेज कर्मियों को जानकारी होने के बाद रोडवेजकर्मी हड़ताल पर चले गये। करीब दो घंटे की हड़ताल में देवरिया डिपो की करीब 100 से ज्यादा बसें तथा अन्य डिपों की कुछ बसे खड़ी हो गई। जिससे यात्रियों को परेशानी का सामना करना पड़ा।

रोडवेज कर्मियों की हड़ताल को देखते हुये ए आर ए एम आरके उपाध्याय ने नाराज रोडवेज कर्मियों को आश्वासन दिया कि दोनों संविदा पर तैनात चालक और परिचालक को 15 जनवरी तक बहाल कर दिया जायेगा इसके बाद रोडवेज कर्मियों की हड़ताल समाप्त हुई।

इस सम्बन्ध में ए आर एम आरके उपाध्याय ने यहां बताया कि संविदा पर कार्यरत एक परिचालक और एक चालक को कार्य में लापरवाही बरतने के मामले में उनको हटा दिया गया। इसी बात पर रोडवेज के चालक और परिचालक हड़ताल पर चले गये थे। जिससे करीब एक घंटे तक कार्य बाधित रहा। दोनों कर्मचारियों को 15 जनवरी तक बहाल कर दिया जायेगा। इस हड़ताल से करीब रोडवेज का 60 हजार रूपये का राजस्व की हानि हुई है।

Related Posts

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *