देवरिया / कुशीनगर

मजबूत बूथ ही आगामी लोकसभा में सत्ता का द्वारः मंत्री अनुपमा जायसवाल

देवरिया: राज्य मंत्री अनुपमा जायसवाल ने रविवार को यहां कार्यकर्ताओं का आह्वान करते हुये कहा कि मजबूत बूथ आगामी लोकसभा चुनाव में सत्ता का द्वार साबित होगा। देवरिया में भारतीय जनता पार्टी द्वारा चलाये जा रहे तीन दिवसीय अभियान “बूथ चलो मेरा बूथ सबसे मजबूत” के अंतिम दिन श्रीमती जायसवाल ने भाजपा नेताओं और कार्यकर्ताओं के साथ मिलकर बूथों पर जाकर 3871 लोगों को भाजपा का नया सदस्य तथा 1387 को नया मतदाता बनाया।

मंत्री ने पुरुषोत्तमपुर और पुरवा मेहडा के काशीराम आवास बूथ पर जाकर लोगों को भाजपा की सदस्यता दिलायी तथा नये मतदाता बनायें। इस दौरान उपस्थित लोगों को संबोधित करते हुये श्रीमती जायसवाल ने कहा कि कार्यकर्ता पूरे मनोयोग से लग कर बूथ का काम करें। क्योंकि मजबूत बूथ ही आगामी लोकसभा चुनाव में हमें पुनः सत्ता में लायेगा।लोकतंत्र के युद्ध में बूथ और मतदाता सूची ही हमारा सबसे बड़ा हथियार होता है।शीर्ष नेतृत्व की इच्छा है कि हर बूथ पर भाजपा को कम से कम 51 फीसद मत मिले।

इसी तरह कृषि मंत्री सूर्य प्रताप शाही ने परसिया मल्ल के बूथ पर लोगो को भाजपा की सदस्यता दिलायी तथा नये सदस्य बनायें।इस दौरान उपस्थित लोगो को संबोधित करते कृषि मंत्री ने कहा कि इस समय देश के अंदर जिस तरह से विपक्षी दलों के द्वारा झूठ की राजनीति कि जा रही है, वह सफल न हो इस हम सभी को अपना बूथ मजबूत करना होगा।इस बार दिल्ली का रास्ता बूथ से ही होकर जायेगा।नये बन रहे मतदाताओ व भाजपा के सदस्यों से कार्यकर्ता लगातार सम्पर्क में रहे।

दिव्यांग बच्चों को ईश्वर हमसे अलग हुनर प्रदान करता हैः अनुपमा

अनुपमा जायसवाल ने कहा कि दिव्यांग बच्चों को ईश्वर हम लोगों से अलग हुंनर प्रदान करता है और इन बच्चों को और तरासने की जरूरत है। श्री जायसवाल देवरिया के जिला एवं प्रशिक्षण संस्थान डायट रामपुर कारखाना परिसर में आयोजित समेंकित शिक्षा आवासीय एक्सीलेरेटेड लर्निगं कैम्पका उदघाटन करने के बाद कहा कि इन बच्चों ने अक्षमता एक क्षमतायें अनेक को चरित्रार्थ करते हुये  बच्चों ने अपने हुनर का जो प्रदर्शन किया है वह काबिले तारीफ है इन्हे निखारने का दायित्व हम सभी का है। जिससे ये आगे चलकर देश-विदेश में अपने साथ-साथ जनपद व प्रदेश का नाम रोशन करने में सफल हो सकेंगे।

उन्होंने कहा कि आम भाषा में इन बच्चों को विकलांग कह दिया जाता है, परन्तु यह द्विव्यांग हैं।जिन्हे ईश्वर हम सब से अलग हुनर प्रदान करता है। उन्होंने कहा कि बच्चें कच्ची मिटटी के समान होते है इस लिये उहें अच्छे से अच्छे ढांचे में ढाल कर अर्थात अच्छी शिक्षा देकर इन्हे आगे बढ़ाने का दाईत्व हम सभी लोगो का है। उन्होंने कहा कि ऐसे लोगो में विशेषतायें होती है जिसके उदाहरण  नृत्यागंना सुधाचन्द्रन,संगीतकार रविन्द्र जैन,पूर्व काल के अष्टाबक्र थे, जो आज भी अपने पहचान के लिये मोहताज नहीं हैं।

उन्होंने कहा कि इन बच्चों में क्षमताओं की कमी नही है। जरूरत इन बच्चों को और निखारने की।उन्होंने शिक्षकों की तारीफ करते हुये कहा कि यहां जो अध्यापक/अध्यपिकायें हैं, वह बहुत ही अच्छा कार्य कर रहे हैं और उन्हें और अच्छा करने की जरूरत है।  सरकार हर बच्चे को शिक्षित करने का संकल्प लेकर चल रही है। इसी के तहत एक भी बच्चा छूटा शिक्षा का चक्र टूटा को दृष्टिगत रखते हुवे पंजीकरण का कार्य भी किया जाता है। जिससे कोई भी बच्चा शिक्षा से अछुता न रहे। मंत्री ने यहां बच्चों को श्रवण यंत्र व ब्रेनकीट उपलब्ध कराये। इस अवसर पर विभिन्न विद्यालयों के छात्र/छात्राओं द्वारा तैयार किये गये विज्ञान उपकरणों का अवलोकन करते हुये सराहना की।

Related Posts

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *