चौरी चौरा तहसील के समीप स्थित ग्रामसभा में नहीं है सफाई कर्मी, बजबजा रही हैं नालियां

गोरखपुर: जिले की ऐतिहासिक व पुरानी तहसील चौरी चौरा क्षेत्र के ग्राम सभा चौरा के नालियों की हालत बद से बदतर हो चुकी है। क्योंकि नालियों का पानी जाम होने के कारण अब गोरखपुर देवरिया राजमार्ग को भी प्रभावित करना शुरू कर दिया है। आलम ये है कि अधिकारियो से बार बार सफाईकर्मी की गुहार लगाने के बाद भी जब बात न सुनी गई तो ग्राम प्रधान प्राइवेट मजदूरों को लगाकर सफाई करवा रहे है।

प्राप्त जानकारी के अनुसार तहसील चौरी चौरा क्षेत्र के बमुश्किल दो किलोमीटर के फासले पर बसे ग्राम सभा चौरा के नालियों की हालत बद से बदतर हो चुकी है। क्योंकि नालियों का पानी जाम होने के कारण अब गोरखपुर देवरिया राजमार्ग को भी प्रभावित करना शुरू कर दिया है। आए दिन नाली का पानी सफाई न होने के कारण चौरीचौरा थाने से आगे रोड पर दिन रात बहता रहता है।

पानी लगने के कारण कई लोग गिरकर घायल हो चुके हैं लेकिन ग्राम सभा चोरा में सफाई कर्मियों की नियुक्ति न होने के कारण नालियों की हालत दिन ब दिन खराब होती जा रही है। इस सम्बन्ध में ग्राम प्रधान बबलू असलम का कहना है कि हमने कई बार एडीओ पंचायत परमात्मा पांडे तथा डीपीआरओ आरके भारती को स्थिति से अवगत करा चुकाया, लेकिन अभी तक किसी भी सफाई कर्मी की व्यवस्था नहीं की गई है।

उन्होंने कहा की अगस्त 2016 के बाद से ग्राम सभा चौरा में किसी भी सफाई कर्मी की नियुक्ति नहीं की गई है। थक हार कर मैंने तहसील दिवस में नाली की समस्या को लेकर प्रार्थनापत्र डाला है, ताकि प्रशासन ग्राम सभा चोरा को सफाई कर्मी दे सके। जब कहीं से भी मेरी नही सुनी गई तो अपने स्तर से प्राइवेट मजदूरों को अधिक पैसा देकर नालियों की साफ सफाई करा रहा हूं। जबकि कई गांव ऐसे हैं, जिनमें नालियों की संख्या कम होने के बावजूद भी वहां चार से पांच सफाई कर्मियों की नियुक्ति की गई है और ग्रामसभा चौरा में एक भी सफाई कर्मी की नियुक्ति नहीं की गई है।

वहीं स्थानीय निवासी अवधेश जायसवाल, राधेश्याम, पप्पू, रिजवान, मंजूर अहमद, पप्पू अंसारी, रमजान अली, असलाम अली, सद्दाम, आस मोहम्मद, सफीक अहमद, उल्ला खान, मनोज, अजय, शरीफ, शकील, नसरुल्ला, का कहना है कि सभी गांव में सफाई कर्मियों की नियुक्ति होती है तो फिर अधिकारी ग्राम सभा चौरा को सफाई कर्मी क्यों नहीं दे रहे हैं।

ग्रामीणों ने मांग किया है कि जल्द से जल्द सफाई कर्मियों की व्यवस्था कराई जाए। जिससे रोड पर बहने वाले पानी को रोका जा सके। जिसके कारण तमाम बीमारियों के फैलने की आशंका है।