जौनपुर से पूर्व सांसद बाहुबली नेता धनंजय सिंह ने रचाई तीसरी शादी, साउथ से हैं उनकी पत्नी

लखनऊ: जौनपुर से पूर्व सांसद और बाहुबली नेता धनंजय सिंह ने अपना तीसरा विवाह फ्रांस की राजधानी पेरिस में किया. उनकी शादी की यह फोटो सोशल मीडिया पर वायरल हो गयी. इस बार धनंजय सिंह की पत्नी साउथ इंडिया से हैं. उनका नाम श्रीबाला रेड्डी है. बताया जाता है कि वो भी तलाकशुदा हैं और निप्पो बैटरी ग्रुप से ताल्लुक रखती हैं.

गौरतलब है कि पूर्व सांसद और बाहुबली नेता धनंजय सिंह की दूसरी पत्नी डॉ. जागृति सिंह बंगाल की रहने वाली 35 साल की नौकरानी मौत के मामले में 5 नवबंर 2013 में फंसे थे. धनंजय सिंह ने पहली शादी पटना की रहने वाली मीनू से 12 दिसंबर 2006 में की थी. शादी के 9 महीने बाद मीनू ने लखनऊ में अपने घर पर सुसाइड कर लिया था. इसके बाद धनंजय ने पेशे से डॉक्टर जागृति सिंह से शादी की थी. जागृति से मई 2013 में तलाक के लिए केस फाइल किया था.

सूत्रों के मुताबिक उनका तलाक भी हो गया है. दरअसल घर में काम करने वाली नौकरानी की हत्या के बाद जेल गए बाहुबली नेता धनंजय सिंह और उनकी पत्नी के जमानत से छूटने के बाद ही संबंधों में दरारें पड़ने लगी थीं. जिसके बाद से दोनों में दूरियां बढ़ती चली गयी और तलाक भी हो गया.

साल 1990 में हाईस्कूल में पढ़ाई के दौरान लखनऊ के महर्षि विद्या मंदिर के एक पूर्व शिक्षक गोविंद उनियाल की हत्या में पहली बार धनंजय का नाम आया था. हालांकि पुलिस इस मामले में आरोप साबित नहीं कर पाई. यहीं से धनंजय पर आपराधिक मामलों से जुड़े आरोप लगने शुरू हो गए. लखनऊ यूनिवर्सिटी में ग्रेजुएशन में एडमिशन के साथ ही छात्र राजनीति और सरकारी विभागों के टेंडर में वर्चस्व की होड़ में धनंजय का नाम कई गंभीर आपराधिक मामलों में जुड़ा.

यही नहीं अरावली मार्ग पर रहने वाले निर्माण निगम के PM गोपाल शरण श्रीवास्तव की हत्या के मामले में भी बाहुबली नेता धनंजय का नाम उछला था. इसके बाद से तो धनंजय ने पीछे मुड़कर नहीं देखा. ग्रेजुएशन पूरा करने के साथ-साथ लखनऊ के हसनगंज थाने में हत्या की साजिश, लूट जैसे गंभीर मामलों से जुड़े करीब 5 से ज्यादा मुकदमे दर्ज हो गए.

शनिवार को लखनऊ के एक होटल में आयोजित बाहुबली नेता की शादी की रिसेप्‍शन पार्टी में पॉलिटिक्स और एडमिनिस्ट्रेशन के कई दिग्गज मौजूद रहे.रिसेप्‍शन में यूपी सरकार में कैबिनेट मंत्री महेंद्र सिंह, स्वाति सिंह, पूर्व बसपा नेता नसीमुद्दीन सिद्दीकी, सपा से राज्यसभा सांसद नरेश अग्रवाल, कांग्रेस नेता संजय सिंह, अमिता सिंह, सपा नेता अरविंद सिंह गोप, विधायक डॉ. हरेंद्र प्रताप सिंह आदि मौजूद थे.