EXIT POLLS: यूपी, गोवा, मणिपुर में खिलेगा कमल, पंजाब में चलेगी झाड़ू, उत्तराखंड में करीबी मुकाबला

गोरखपुर: राज्यों के लिए वोटिंग खत्म होते ही अब एग्जिट पोल्स के आंकड़े आने शुरू हो गए हैं। सबसे ज्यादा 403 विधानसभा सीटों वाले उत्तर प्रदेश में बीजेपी की बहुमत से सरकार बनने का अनुमान है। टाइम्स नाउ-वीएमआर के सर्वे के मुताबिक यूपी बीजेपी में 210 से 230 सीटें हासिल करते हुए बहुमत से सरकार बना सकती है। यहां सत्ताधारी एसपी को 110 से 130 सीटें मिलने का अनुमान है।

वहीं, बीएसपी को महज 67 से 74 सीटों पर ही सिमटना पड़ सकता है, जबकि अन्य को 8 सीटों पर संतोष करना पड़ सकता है। सर्वे के मुताबिक पश्चिम यूपी, अवध, रुहेलखंड, बुंदेलखंड और पूर्वी यूपी के अधिकतर हिस्सों में बीजेपी बढ़त बनाती दिख रही है। न्यूज एक्स-MRC के सर्वे में भी बीजेपी को 185 सीटों के साथ बहुमत के करीब दिखाया जा रहा है, जबकि एसपी-कांग्रेस को 120 और बीएसपी को सिर्फ 90 सीटें मिलने का अनुमान है।

सी-वोटर के एग्जिट पोल के मुताबिक बीजेपी को गोवा और मणिपुर की सत्ता मिल रही है, जबकि उत्तराखंड में कांग्रेस के साथ उसका करीबी मुकाबला है। यहां एक सीट का हेरफेर किसी भी पार्टी के सत्ता के गणित को बिगाड़ सकता है। वहीं, उत्तर प्रदेश के बाद दूसरे सबसे बड़े चुनावी राज्य पंजाब में अकाली-बीजेपी गठबंधन को महज 9 सीटों पर ही संतोष करना पड़ सकता है। यहां दिल्ली के बाद आम आदमी पार्टी एक बार फिर सबको चौंकाते हुए सरकार बना सकती है। सर्वे के मुताबिक ‘आप’ को यहां 117 में से 63 सीटें मिलेंगी, जबकि कांग्रेस का अभियान 45 सीटों पर ही सिमट सकता है। देखें, किस राज्य में किसे मिल सकती हैं कितनी सीटें…

पंजाब में चलेगा झाड़ू
सी-वोटर सर्वे के मुताबिक आम आदमी पार्टी को दिल्ली के बाद अब पंजाब की सत्ता मिल सकती है। 117 सीटों वाली विधानसभा में केजरीवाल की पार्टी को 63 सीटें मिल सकती हैं, जबकि कांग्रेस को 45 सीटों पर ही संतोष करना पड़ सकता है। वहीं, अकाली दल और बीजेपी को सत्ता विरोधी लहर का सामना करते हुए 9 सीटों पर ही सिमटना पड़ेगा। यहां पहली बार चुनाव लड़ रही ‘आप’ वोट प्रतिशत के मामले में भी सब पर भारी पड़ती दिख रही है।

उत्तराखंड में एक बार फिर करीबी मुकाबला
2012 के विधानसभा चुनावों में कांग्रेस और बीजेपी के बीच सिर्फ 1 सीट का अंतर था। इस बार भी तस्वीर ऐसी ही रह सकती है। सी-वोटर के मुताबिक 70 सीटों वाली विधानसभा में बीजेपी और कांग्रेस को 32-32 सीटें मिलेंगी, जबकि 6 सीटें अन्य के खाते में जाएंगी। गौरतलब है कि चुनाव से पहले जारी किए गए अधिकतर सर्वे में इस पहाड़ी राज्य में बीजेपी को बहुमत मिलने के अनुमान जताए गए थे।

मणिपुर में खिलेगा कमल
असम के जरिए पूर्वोत्तर में पहली बार सरकार बना चुकी बीजेपी को अब मणिपुर में भी कामयाबी मिल सकती है। सी-वोटर के एग्जिट पोल के अनुसार 60 सीटों वाली विधानसभा में बीजेपी को सबसे ज्यादा 28 सीटें मिल सकती हैं, जबकि सत्ताधारी कांग्रेस को महज 20 सीटों पर संतोष करना पड़ेगा। वहीं, अन्य के खाते में 12 सीटें जा सकती हैं। साफ है कि बहुमत साबित करने के लिए सबसे बड़ी पार्टी को अन्य की जरूरत पड़ सकती है।

गोवा में बीजेपी की होगी वापसी
गोवा में एक बार फिर से बीजेपी की वापसी की उम्मीद है। 40 सीटों में से उसे 18 सीटें मिलने का अनुमान है, जबकि कांग्रेस के खाते में 15 सीटें रह सकती हैं। वहीं, मजबूती से चुनाव लड़ रही ‘आप’ को महज 2 सीटें मिलने का ही अनुमान है, अन्य दलों को 5 सीटें मिल सकती हैं। यहां ‘आप’ को भले ही 2 सीटें मिल रही हैं, लेकिन साउथ गोवा में 14 पर्सेंट और उत्तर में 11 पर्सेंट वोटों के साथ ‘आप’ अपनी ताकत दिखाने की तैयारी में है। हालांकि बीजेपी के वोट शेयर में यहां 5 पर्सेंट कमी आने की उम्मीद है, इसके बाद भी वह सरकार बनाने के करीब है।

जानें, कहां किसे मिल रहे हैं कितने वोट
पंजाब: दोआब क्षेत्र में कांग्रेस को सबसे ज्यादा 43.9 पर्सेंट वोट मिलने की उम्मीद है। वहीं, सरकार बनाने जा रही ‘आप’ को 27.7 पर्सेंट वोट हासिल हो सकते हैं, जबकि अकाली+बीजेपी को 22.4 पर्सेंट वोट ही मिलने की उम्मीद है। मालवा की बात की जाए तो यहां ‘आप’ को सबसे ज्यादा 40.8 प्रतिशत वोट मिल सकते हैं, जबकि कांग्रेस को 32.9 और अकाली+बीजेपी को 21.2 प्रतिशत वोट मिलने की उम्मीद है। मांझा में ‘आप’ को 38.4 पर्सेंट, कांग्रेस को 34.4 पर्सेंट और अकाली गठबंधन को 20.8 पर्सेंट वोटों की उम्मीद है।

जानें, चुनावों में कितने सही हुए हैं एग्जिट पोल्स

उत्तराखंड: पहाड़ी राज्य के कुमाऊं क्षेत्र में कांग्रेस को सबसे ज्यादा 41.8 पर्सेंट वोट मिलने की उम्मीद है, जबकि बीजेपी को 38 और अन्य के खाते में 20 फीसदी वोट जा सकते हैं। गढ़वाल इलाके में बीजेपी के खाते में 45.9 पर्सेंट, कांग्रेस के खाते में 34.4 पर्सेंट और अन्य को 19.8 पर्सेंट वोट मिल सकते हैं। साफ है कि यहां कमल खिल सकता है। वहीं, यूपी से सटे मैदानी इलाके में कांग्रेस 44.3 पर्सेंट वोटों के साथ बढ़त बनाती दिख रही है। बीजेपी को यहां 37.9 पर्सेंट और अन्य को 17.9 फीसदी वोट मिल सकते हैं। गौरतलब है कि कांग्रेस को कुमाऊं में पिछली बार के मुकाबले 4.4 पर्सेंट अधिक वोट मिल रहे हैं, जबकि गढ़वाल में सिर्फ 0.3 पर्सेंट की कमी आएगी। यही नहीं मैदानी इलाकों में उसके वोटों में सबसे ज्यादा 14.5 पर्सेंट वोट बढ़ने की उम्मीद है।

मणिपुर: पूर्वोत्तर भारत में असम और अरुणाचल के जरिए एंट्री कर चुकी बीजेपी को मणिपुर के लगभग हर क्षेत्र में भारी बढ़त मिलती दिख रही है। इनर मणिपुर में बीजेपी को 37.1 पर्सेंट, कांग्रेस को 37.6 पर्सेंट और अन्य को 25.3 फीसदी मत मिलने की उम्मीद है। वहीं, आउटर मणिपुर में बीजेपी को 30.5 पर्सेंट, कांग्रेस को 22.1 पर्सेंट और अन्य को सबसे अधिक 47.4 पर्सेंट मिल सकते हैं। न्यू डिस्ट्रिक्ट्स की बात करें तो यहां बीजेपी को सबसे अधिक 39.5 पर्सेंट वोट मिल सकते हैं, जबकि 29 पर्सेंट वोट कांग्रेस के हिस्से में आ सकते हैं। अन्य दलों को 31.5 पर्सेंट मत हासिल हो सकते हैं।

गोवा: यहां बीजेपी को दोनों क्षेत्रों, दक्षिण गोवा और उत्तर गोवा, में बढ़त मिलती दिख रही है। दक्षिणी गोवा में बीजेपी को 34.9 पर्सेंट वोट मिल सकते हैं, जबकि कांग्रेस को 32.6 पर्सेंट वोट ही मिलेंगे। यहां ‘आप’ को 14.4 पर्सेंट वोट मिलने की उम्मीद है। उत्तरी गोवा में भी कमल खिलने के अनुमान हैं। यहां बीजेपी को 36.7 पर्सेंट, कांग्रेस को 31.1 पर्सेंट और आप को 11.2 पर्सेंट वोट हासिल होने की संभावना है। ‘आप’ के लिहाज से बात करें तो पहली बार चुनाव लड़ते हुए 10 पर्सेंट से अधिक वोट हर इलाके में हासिल करना उसके लिए बड़ी उपलब्धि होगा।

Martia Jewels
Martia Jewels
Martia Jewels