डयूटी लगाने को लेकर पुलिस लाइन्स में सिपाहियों के बीच हुई जमकर मारपीट

गोरखपुर: प्रदेश में भ्रष्टाचार पर लगाम कसने के लिए भले ही मुख्यमंत्री कितनी कवायदें कर लें, किन्तु जब भ्रष्टाचार को मिटाने वाला विभाग ही लेन देन कर रहा हो तो वाजिब है कि भ्रष्टाचार मिटाने से रहा। आज इसी तरह के भ्रष्टाचार का जीता जागता नमूना गोरखपुर पुलिस लाइन्स में देखने को मिला। जहां दारू के नशे में धुत एक सिपाही ने ड्यूटी लगाने के नाम पर गड़ना लिपिक द्वारा धन मांगे जाने से नाराज होकर मारपीट कर लिया। मामला जब एसएसपी तक पहुंचा तो उन्होंने इसकी जांच सीओ कैंट को सौंप दी है।

गोरखपुर में पुलिस लाइन में डयूटी लगाने को लेकर सिपाही और गणना मुंशी में जमकर मारपीट हुई है। इस दौरान पुलिस लाइन में मौजूद साथी सिपाहियों ने किसी तरह मामला शांत कराया है। जब कि गणना मुंशी की शिकायत पर मारपीट करनेके आरोप सिपाही का मेडिकल कराया गया है। बताया जा रहा है कि शराब के नशे में धुत्त सिपाही ने मनचाही डयूटी लगाने को लेकर गणना मुंशी पर दबाव बनाया था। लेकिन ऐसा नहीं होने पर सिपाही ने शराब के नशे में गणना मुंशी से जमकर मारपीट की है।

मामला कैंट थाना के पुलिस लाइन का है। जहां गणना कार्यालय पर गणना मुंशी सत्यपाल चौहान और सिपाही अजीत यादव के बीच डयूटी लगाने के विवाद में जमकर मारपीट हुई है। वहीं मौके पर मौजूद सिपाहियों ने बीच-बचाव कर मामला शांत कराया है। जबकि आरोपी सिपाही का मेडिकल कराया गया है। जबकि आरोपी सिपाही अजीत यादव ने गणना मुंशी पर संगीन आरोप लगाते हुये कहा है कि पैसे लेकर मनचाही पोस्टिंग की जाती है।

साथ ही आरोपी सिपाही का कहना है कि तिवारीपुर थाने पर पहले की तैनाती के दौरान उसकी सपा नेता से विवाद हुआ था। जिसमें उसे सस्पेंड किया गया था। ऐसे में दोबारा तिवारीपुर थाने में ही पोस्टिंग किये जाने से नाराज सिपाही ने गणना मुंशी से मारपीट की है।