फाइनल रिपोर्ट स्पेशल

विकास की मुख्य धारा में लौटा चिल्लूपार, 200 किमी सडकों के निर्माण को मिली मंजूरी

गोरखपुर (संदीप त्रिपाठी): जिले के अंतिम छोर पर स्थित चिल्लूपार विधान सभा एक बार फिर से विकास की मुख्य धारा में लौट आया है। गौरतलब है की पुरे प्रदेश में मोदी सुनामी में भाजपा ने सफी दलों का सूपड़ा साफ़ करते हुए विधान सभा चुनावों में 325 सीटों पर जीत दर्ज की थी। गोरखपुर जनपद के 9 में से भाजपा ने 8 सीटों पर जीत दर्ज की लेकिन चिल्लूपार में भाजपा प्रत्याशी को हार का मुंह देखना पड़ा।
यहाँ से पूर्व मंत्री हरिशंकर तिवारी के बेटे विनय शंकर तिवारी ने जीत दर्ज की। अब यहाँ विपक्ष का विधायक होने के बाद भी चिल्लूपार विकास के रूप में फिर से अपनी पहचान बना रहा है।
जानकारी के अनुसार, सबसे पहले इस क्षेत्र में 200 किलो मीटर सडकों के निर्माण की मंजूरी मिल चुकी है और बजट भी तैयार हो चुका है। बहुत जल्द ही कार्य भी प्रारम्भ हो जायेगा। कौड़ीराम, गोला, झुमिल, सेमरा घाट, रामपुर गढवा, मोहन, पौहरिया, भाटपार, राम जानकी मार्ग सहित लगभग 100 की संख्या में गांव के संपर्क मार्ग के निर्माण की मंजूरी मिल चुकी है।
इस सन्दर्भ में फाइनल रिपोर्ट से बातचीत में विधायक विनय शंकर तिवारी ने कहा की जिस चिल्लूपार की पहचान हमेसा विकास के रूप में होती थी विगत 10 वर्षों से उसी चिल्लूपार का विकास अवरुद्ध है।
उन्होंने कहा की पूर्व प्रतिनिधि ने विकास के नाम पर कुछ नही किया। सड़के, गड्ढों में तब्दील हो गयीं हैं। आवागमन में क्षेत्रीय जनता को दिक्कतों का सामना करना पड रहा है।
श्री तिवारी ने कहा की चिल्लूपार की महान जनता ने इस से छुटकारा पाने के लिए जिस आशा और विश्वास के साथ हमको अवसर दिया है उसपर मैं हमेशा खरा उतरूंगा।

Related Posts

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *