फाइनल रिपोर्ट स्पेशल

शानदार: हर संडे यह कमेटी पब्लिक प्लेस पर लगाती है पौधे, लगतार चौथे सप्ताह गुलरिहा के युवाओं ने किया वृक्षारोपण

गणेश पाण्डेय ‘राज’
गोरखपुर: ”वृक्ष कबहुं नहीं फल भखे, नदी न संचे नीर; परमारथ के कारने, साधुन धरा शरीर।” प्रकृति की लगातार चेतावनी के बाद भी मानव समाज बेरहमी से जंगलों व पहाड़ों का विनाश करने में लगा हुआ है। जिसका खामियाजा भी रह रह कर इसी मानव समाज को भुगतना पड़ रहा है। बावजूद इसके कोई भी अपनी दिनचर्या में परिवर्तन लाने को तैयार नहीं है।

वहीं दूसरी तरफ समाज में कुछ ऐसे भी प्रहरी हैं जो लगातार प्रकृति को सुन्दर व पर्यावरण से संतुलित बनाए रखने में लगे हुए हैं। इसी कड़ी में जनपद के भटहट विकासखण्ड अर्न्तगत गुलरिहा गांव निवासी अपेक्षाकृत कम आधुनिक व पढ़े लिखे युवकों, प्रौढ़ों की एक टोली ने वन्य सम्पदा को मजबूत करने का बीड़ा उठा रखा है।

हाल ही में आस्तित्व में आये पर्यावरण संरक्षण कमेटी के संरक्षक गुलरिहा ग्राम सभा के ग्राम प्रधान दशरथ मद्देशिया हैं। उनके नेतृत्व में लगातार चौथे सप्ताह रविवार को भटहट ब्लाक के बुढाडीह स्थित श्मशान पर पौधरोपण किया गया। हर बार की तरह इस बार भी 11 सदस्यों ने एक एक पौधरोपण किया। पौधरोपण कार्यक्रम की अध्यक्षता वार्ड नंबर 8 के जिला पंचायत सदस्य रामभोग सिंह ने किया।

ग्राम प्रधान दशरथ मद्धेशिया ने बताया कि वृक्षारोपण के प्रति लोगों को जागरूक करना हमारी पहली प्राथमिकता है क्योकि बिना वृक्ष के जीवन की परिकल्पना करना नामुमकिन है। वृक्ष हमारी पहली सांस से लेकर अंतिम संस्कार तक मदद करते हैं। हम सबका दायित्व बनता है कि अधिक से अधिक वृक्षारोपण कर उनकी रक्षा करें। यहां यह भी बतादें की पर्यावरण संरक्षण कमेटी का संकल्प है कि हर रविवार को विकास खण्ड भटहट के प्रत्येक गांव में 11 पौधा लगाकर ग्रामीणों को पर्यावरण संरक्षण के बारे में जानकारी व इसके फायदे भी बताएगी और जागरूक भी करेगी।

जिला पंचायत सदस्य रामभोग सिंह ने वृक्षों के महत्व और बढ़ते हुए प्रदूषण की भयावहता से उपस्थित लोगों को सचेत करते हुए अधिक से अधिक वृक्षारोपण करने की अपील की। कमेटी के मीडिया प्रभारी हैं अभिषेक मद्धेशिया। पौधरोपण कार्यक्रम में कमेटी के अध्यक्ष इन्दल प्रजापति, धर्मेन्द्र कुमार, मुबारक अली, सरोज, विजय, ब्रम्हदेव, सूर्यनाथ, राज, संदीप, आदर्श, सत्यम, विशाल, मनीष गुप्ता, अनूप, शिवचरन, मनीष मद्धेशिया आदि ने भाग लिया।

Related Posts

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *