फाइनल रिपोर्ट स्पेशल

बिहार में बंद हुई शराब तो यूपी में बढ़ी खपत

Alcohal-consumption-increasगोरखपुर: बिहार सरकार की सबसे बडी उपलब्धि, बिहार में सरकार की तरफ से शराब बंद होने के नाते अब यूपी में शराब की डिमांड के साथ साथ उसकी खेप भी बढ़ गई है। बिहार सरकार ने जैसे ही बिहार में शराब पर प्रतिबन्ध लगा दिया, वैसे ही शराब पिने वाले यूपी का रुख करने लगे और मण्डल के जनपदों कुशीनगर देवरिया, महराजगंज और गोरखपुर में आकर शराब का सेवन कर रहे है | हर रोज सैकड़ो की संख्या में बिहार से लोग आते है। यहा पर आकर शराब पी रहे है तो कुछ ले भी जा रहे है |
इस बार बिहार की नितीश सरकार ने कुछ ऐसा किया कि सभी प्रदेशों की सरकारों के लिए एक सबक दे दिया, और अपने प्रदेश यानी बिहार में शराब को पूर्णत बंद करके एक मिशाल कायम की । अब जबकि बिहार में शराब बंद हो चुकी है तो चौंकाने वाली बात है कि पीने वाले अपनी खुमार कहाँ उतारेंगे। नतीजा सामने है कि पास पड़ोस में जहाँ भी उनकी आवश्यकता पूरी हो उधर का ही रुख करेंगे। हुआ भी यही और उन्होंने यूपी का रास्ता पकड़ लिया क्योकि जो इसका अभ्यस्त है, वो इसके लिए कही भी जा सकता है। इसकी मिसाल देखने को मिली लगन के दौरान ,जब इसकी खपत अचानक बढ़ गई ।
बिहार में बन्दी और यूपी में शराबों की कीमतों में कमी, ये दोनों चीजें ऐसी रही कि अब यूपी से लोग शराब की तस्करी भी करने लगे, शायद यही वजह है, कि एकाएक यूपी में शराब की खपत बढ़ गई है, और शराब की डिमांड यूपी में ज्यादा हो गई है |
गोरखपुर के उप आबकारी आयुक्त आर एस मिश्रा की माने तो शराब की खपत ज्यादा होने के दो कारण है, पहला तो शराब के रेट कम होने के नाते दुसरे बिहार में शराब बंदी का कठोरता से पालन।
हालाँकि इसका फायदा प्रदेश के राजस्व को हो रहा है । जिसका नमूना गोरखपुर के रेलवे स्टेशन बस स्टेशन पर मौजूद शराब की दुकान पर शराब पिने वालो की संख्या भी खासी नजर आ रही है | फिर चाहे देशी शराब की दूकान हो या फिर अंग्रेजी शराब की दूकान सभी दुकानों पर खरीदारों की संख्या साफ़ देखी जा सकती है |
गोरखपुर के स्टेशन पर मौजूद शराब पिने वाले लोगो से जब ये पूछा गया कि आप कहा से आये हो तो, उन्होंने कहा की हम बिहार से आये है। जब उनसे वजह पूछी गई कि इतनी दुर से यहा तो उन्होंने कहा की बिहार में सरकार ने शराब बंद कर दिया है । इसलिए हम हफ्ते में कम से कम दो बार शराब पिने जरुर आते
है।
ये तो देशी शराब के दुकानो पर शराब पिने आये लोगो का हाल था, इसी तरह अंग्रेजी शराब के दुकानदारो ने भी साफ़ बताया कि जब से बिहार में शराब बंद हुआ है, इनकी आमदनी बढ़ गई है, और हर रोज पहले की अपेक्षा पांच से आठ हजार रूपये इजाफा हुआ है, और लोग ज्यादा आ रहे है, आने वाले लोगो में बाहर के लोग ज्यादा है |
ऐसे में जब बिहार में शराब बंद होने के नाते यूपी में लोगो का पैर जमने लगा है । लोग और शराब व्यवसाई चोरी छिपे शराब की तश्करी यूपी से कर रहे है | इसको लेकर मण्डल स्तर पर बिहार सरकार के अधिकारी और गोरखपुर के अधिकारी बैठक कर इस पर रोक लगाने की कवायद शुरू कर दिए है।
LIKE US:

fb
AD4-728X90.jpg-LAST

Related Posts

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *