फाइनल रिपोर्ट स्पेशल

इसी महीने से दौड़ेगी गोरखपुर-आनंद बिहार हमसफ़र एक्सप्रेस, हफ्ते में 3 बार चलेगी

humsafar-expressगोरखपुर: महानगर और उसके आस पास की जिलों में रहने वालों के लिए खुशखबरी है। दिसम्बर महीने के प्रथम पखवाड़े से देश की पहली पूर्णतया एयर कंडीशन थ्री टियर हमसफर एक्सप्रेस गोरखपुर से आनंद बिहार के बीच चल सकती है। रेलवे के उच्चपदस्थ सूत्रों के अनुसार यह ट्रेन हफ्ते में तीन बार चलेगी।
गोरखपुर-आनंद बिहार के बीच चलने वाली हमसफर एक्सप्रेस के अलावा दिसम्बर के महीने में रेल मंत्रालय ऐसी ही 9 अन्य ट्रेनों को देश के विभिन्न भागों में चलाएगा। गोरखपुर-आनंद बिहार हमसफ़र एक्सप्रेस में कुल 21 कोच होंगे।
humsafar-express-1गौरतलब है की जून के महीने में गोरखपुर स्टेशन पर वाई फाई सुविधा के उद्घाटन के मौके पर रेल राज्य मंत्री मनोज सिन्हा ने यह घोषणा की थी की देश की पहली हमसफ़र ट्रेन गोरखपुर से दिल्ली के लिए चलाई जाएगी। वैसे सूत्रों के अनुसार यात्रियों को इस ट्रेन से सफर करने के लिए अन्य ट्रेनों के एसी 3 टियर के किराये के मुकाबले 20 प्रतिशत ज्यादा खर्च करना होगा।
humsafar-express-2हमसफर ट्रेनो के चलाने की घोषणा रेल मंत्री सुरेश प्रभु ने 2016-17 के रेल बजट पेश करते हुए की थी। हमसफर एक्सप्रेस पूर्णतया एसी3 टियर ट्रेन होगी लेकिन इसमें अन्य ट्रेनों के मुकाबले ज्यादा आधुनिक सुविधाएँ मिलेंगी।
humsafar-express-3इन ट्रेनों में सीसीटीवी, जीपीएस आधारित पैसेंजर इनफार्मेशन सिस्टम, फायर एंड स्मोक डिटेंशन सिस्टम के साथ साथ हेर बर्थ पे मोबाइल और लैपटॉप चार्जिंग की सुविधा उपलब्ध होगी। इसके इंटीरियर और एक्सटीरियर भी बाकी ट्रेनों से एकदम अलग होंगे। इन ट्रेनों को व्यस्त रूटों पर चलाया जायेगा।
आइये एक नजर डालतें हैं हमसफ़र एक्सप्रेस के कोच की खास बातों पर:
— इन ट्रेनों के सीटें पहले से ज्यादा आरामदायक होंगी
— मोबाइल और लैपटॉप के चार्जिंग पॉइंट पहले से ज्यादा होंगे
— दृष्टिहीन व्यक्तियों के लिए ब्रेल की सुविधा होगी जिससे उन्हें सफर के दौरान कोई दिक्कत न हो
— यात्रियों की सुरक्षा के लिए ट्रेन में सीसीटीवी कैमरे भी लगे होंगे
— फायर और स्मोक डिटेक्शन यन्त्र भी लगे होंगे इन कोचों में
— यह ट्रेन बायो टॉयलेट से युक्त होगी
— इस ट्रेन में यात्रियों के लिए खान पान की सुवडीह भी उपलब्ध होगी

Related Posts

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *