फाइनल रिपोर्ट स्पेशल

गरीब महिला के इलाज़ में मदद को आगे आईं मेयर डा सत्या पाण्डेय

Mayor-Satya-Pandey-1गोरखपुर: एक गरीब महिला की इलाज़ में मदद के लिए मेयर डा सत्या पाण्डेय आगे आईं हैं। महिला की दीन-हीन स्थिति को देखकर महापौर ने ना केवल उसके इलाज की व्यवस्था जिला चिकित्सालय में कराया बल्कि उसे यह भी आस्वाशन दिया की उसके इलाज के लिए जहॉ भी आवश्यकता होगी वो खुद अपने स्तर से कोई भी कोर कसर नहीं छोड़ेंगी।
उन्होंने कहा की अगर जरुरत पड़ी तो वो खुद जिला प्रशासन से लेकर मुख्यमंत्री तक से अनुरोध करके किसी अच्छे अस्पताल उस महिला का माकूल इलाज करवाएंगी।
क्या है मामला:
दूर्गाबाड़ी पेट्रोल पम्प के पास भवन संख्या 181 एच की निवासी श्रीमती सलमा खातून लगभग 6 वर्ष पूर्व टैंम्पों पलटने से घायल हो गयी थी तथा रीढ के हड़डी के नीचे कमर और कूल्हे से जॉघ की हड्डी अलग हो जाने के कारण दोनों पैर लूज पुंज स्थित में है। महिला न ही बैठ पाती हैं और न ही खड़ी हो पाती है। महिला के पति जहीरूद्दीन का देहांत हो चुका है।
इनका ईलाज लगातार प्राइवेट अस्पतालों में रिश्तेदारों, पास-पड़ोस आदि के मदद से चल रहा है किन्तु कोई लाभ इन्हे प्राप्त नही हुआ अब डाक्टरों द्वारा दिल्ली जाने की सलाह दी जा रही है।
इस महिला के दो बच्चे जिनका नाम मुहम्मद अनस 11 वर्ष व मुहम्मद अमन 6 वर्ष का है जो मॉ की सेवा एवं आधा-अधूरा खाना बनाने के साथ-साथ पढ़ाई भी कर रहे। इनकी गरीबों को देखकर जिस विद्यालय में यह शिक्षारत है उन्हे निःशुल्क शिक्षा दी जा रही है।
इस महिला के इलाज के लिए जिलाधिकारी एवं शासन स्तर से भी पैरवी के अभाव में कोई सहायता नही मिल रही है। इनका राशन कार्ड तक नही बन पाया है। वोटर आई-डी तथा आधार कार्ड मौजूद है फिर भी न ही इन्हे विधवा पेंशन और न विकलांग पेंशन का लाभ ही मिल पा रहा है।
इस महिला के जीवकोर्पाजन एवं बच्चों की पढ़ाई लिखाई का कोई अन्य श्रोत नही है। निवास के रूप में केवल एक कमरा बिना प्लास्टर किया हुआ है स्थिति अत्यन्त दयनीय है यह महिला बिस्तर पर पड़ी है इसके पीठ आदि में बेड सोल भी पड़ गये है।
ऐसे में मेयर डा सत्या पाण्डेय इस इस महिला के लिए भगवान् बन कर सामने आईं। एक दिन महिला की तबीयत बिगडने पर महापौर ने एम्बूलेन्स से भेजवाकर जिला चिकित्सालय के इमरजेन्सी वार्ड अन्तर्गत वृद्धा वार्ड में बेड संख्या 3 पर भर्ती कराकर वहॉ उपस्थित डाक्टरों को निर्देशित किया कि मरीज का बेहतर ईलाज करते हुए विभाग द्वारा जो भी सुविधाएॅ दी जा सकती है दिया जाए।
जिला अस्पताल द्वारा मरीज को भर्ती करते हुए तत्काल इलाज प्रारम्भ कर दिया है। हड्डी रोग विशेषज्ञ ने इसकी जॉच करने के उपरान्त यह भी कहा कि न्यूरो की दिक्कत भी है इसलिए न्यूरो के डाक्टर को भी दिखाना होगा। उचित होगा कि इन्हे मेडिकल कालेज अथवा कही अन्यत्र दिखाया जाए।
महापौर द्वारा कहा गया कि इस महिला की विधिवत जॉच कराकर इलाज जहॉ भी सम्भव हो इसमें जिला प्रशासन एवं मुख्यमंत्री का भी सहयोग लेकर महिला को ठीक कराया जाय।
हमारा फेसबुक पेज LIKE करना न भूले:
fb
AD4-728X90.jpg-LAST

Related Posts

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *