फाइनल रिपोर्ट स्पेशल

बीते वर्ष में एनईआर पर खूब बरसी प्रभु की कृपा, अनेक योजनाओं से परिपूरित हो रहा गोरखपुर रेलवे स्टेशन

गोरखपुर: विश्व पटल पर सर्वाधिक लम्बा प्लेटफॉर्म युक्त रेलवे स्टेशन होने का तमगा हासिल करने वाले पूर्वोत्तर रेलवे के मुख्यालय स्थित गोरखपुर जंक्शन के लिए यह साल उपलब्धियों भरा रहा है। एनईआर के इतिहास में बीता वर्ष स्वर्णाक्षरों में दर्ज होगा। इस स्टेशन पर वर्ष भर रेलमंत्री सुरेश प्रभाकर प्रभु की कृपा बरसती रही।
जिसमे रेलवे स्टेशन को जहाँ सबसे लंबा प्लेटफॉर्म, ट्रेनों में बेहतरीन साफ़ सफाई वाले बेड रोल की लॉन्ड्री, रेलमार्गो का विद्युतीकरण, कई जोड़ी नयी रेल गाड़ियों समेत हमसफ़र जैसी सुपरफास्ट ट्रेन की सौगात मिली है। साथ ही इस स्टेशन को विश्वस्तरीय बनाने को एयरपोर्ट की तरह प्लाजा बनाने के साथ ही साथ स्वचालित सीढियों से भी पूर्ण कर दिया गया है।
बीते वर्ष 2016 की बात करें तो केंद्र सरकार ने इस रेल मुख्यालय के स्टेशन को विशेष दर्जा दिया है। रेलमंत्री सुरेश प्रभाकर प्रभु के विशेष कृपा का असर भी देखने को मिल रहा है। जिसमे स्टेशन पर साफ सफाई को देखते हुए कहा जा सकता है कि पीएम के स्वच्छता अभियान को दम मिला है, तो वहीं दूसरी तरफ एनईआर की झोली में 25 नई एक्सप्रेस गाड़ियां भी आ गई हैं।
इसके साथ ही रेल मार्गों का विद्युतीकरण हो चुका है और स्थानीयता की बात करें तो गोरखपुर स्टेशन पर यात्रियों की सुविधा को देखते हुए उत्तरी द्वार की स्थापना और सबसे लंबा कैब-वे तथा निःशुल्क वाई-फाई की सुविधाओ से इस स्टेशन को लैस कर दिया गया है। इलेक्ट्रिफिकेशन के बाद इस रूट पर 18 जोड़ी गाड़ियां इलेक्ट्रिक इंजन से विभिन्न गन्तब्यो के लिए फर्राटा भर रही हैं। पुरे वर्ष बरसी प्रभु की कृपा के चलते वर्ष के अंत में इस स्टेशन को राजधानी जैसी वीआईपी ट्रेन के समकक्ष हमसफ़र ट्रेन,इलेक्ट्रिक लोको शेड और एस्केलेटर जैसी सुविधाएं भी मिल चुकी है।
इसी क्रम में आने वाला वर्ष 2017 भी उपलब्धियों भरा होगा। रेलमंत्री के दिए गए बयानों के मुताबिक आने वाले वर्ष में सभी महत्वपूर्ण स्टेशनों पर स्थापित फुटओवरब्रिज पर एस्केलेटर (स्वचालित सीढ़ी) और लिफ्ट लगाए जाएंगे। स्टेशन को ऐसा बनाया जाएगा कि प्लेटफार्म पर उतरते ही यात्रियों को पता चल जाए कि वह गोरखपुर में आ गए हैं। कायाकल्प की शुरुआत भी हो चुकी है।
इसके अतिरिक्त शुरू हो रहे वर्ष 2017 में भी इस रेलवे मुख्यालय और स्टेशन को बहुत कुछ मिलने की उम्मीदें बरकरार है। जिनमे गोरखपुर स्टेशन के प्लेटफार्म नंबर तीन, चार, पांच, छह, सात और आठ पर लिफ्ट लगाने के साथ ही पुरवोत्तर रेलवे के अन्य प्रमुख स्टेशनों पर भी एस्केलेटर लगेंगे।
विश्वस्तरीय बनाने के क्रम में गोरखपुर के प्लेटफार्मो पर अति आधुनिक प्रसाधन केंद्र स्थापित किये जायेंगे। रेलवे स्टेशन के मुख्य द्वार पर अति आधुनिक शौचालय की स्थापना के साथ स्टेशन परिसर में मल्टी फंक्शनल कांप्लेक्स का निर्माण भी करवाया जायेगा।

Related Posts

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *