फाइनल रिपोर्ट स्पेशल

योगी को लिखी IPS सूर्य कुमार शुक्ला की चिट्ठी हुई लीक, रिटायरमेंट के बाद पद की मांग की

राकेश मिश्रा
गोरखपुर: इसी महीने की 31 तारीख को रिटायर हो रहे प्रदेश के वरिष्ठ आईपीएस डॉ सूर्य कुमार शुक्ला द्वारा सूबे के मुखिया योगी आदित्यनाथ को लिखी एक चिट्ठी लीक हुई है। चिट्ठी में श्री शुक्ल ने विस्तार से अपने रिटायरमेंट प्लान का उल्लेख करते हुए योगी से किसी अच्छे पद की मांग की है। जिससे वो आसानी से राज्य सरकार के गेस्ट हॉउसों में रह सकें। यही नहीं उन्होंने एक विकल्प संगठन में काम करने का भी सुझाया है।

वर्तमान में होमगॉर्ड्स के कमांडेंट जनरल के पद पर तैनात सूर्य कुमार शुक्ला ने सीएम को लिखे पत्र में लिखा है कि वो अपने सेवाकाल में कई जगह पोस्टेड रहे। उन्होंने लोगों की खूब सेवा की। कभी प्रदेश के डीजीपी पद की दौड़ में शामिल रहे वरिष्ठ आईपीएस श्री शुक्ल ने लिखा है कि वो योगी को अपना आदर्श मानते हुए रिटायरमेंट के बाद सार्वजनिक जीवन में सक्रिय रहकर सामाजिक कार्य करना चाहते हैं। जो भी समाज की समस्याएं हैं, उन्हे दूर करने का प्रयास करना चाहते हैं। उन्होने पत्र में लिखा है कि उन्हें योगी के संगठन के कार्यों एवं उसकी विचारधारा में पूर्ण विश्वास है। उन्होंने लिखा है की विशष रूप से राष्ट्रीय विचारधारा के लोगों की सहायता करने और उनकी समस्याओं का निवारण करने में उनकी विशेष रूचि है।

यही नहीं आईपीएस सूर्य कुमार शुक्ला ने पत्र में दर्जे की मांग करते हुए उन आयोगों और बोर्डों के नाम भी दिए, जिनमे अध्यक्ष और उपाध्यक्ष के पद खाली है। श्री शुक्ल ने योजना आयोग, खादी ग्रामोधोग बोर्ड, राज्य समाज कल्याण बोर्ड और उत्तर प्रदेश प्रदूषण नियंत्रण बोर्ड का नाम देते हुए लिखा है कि इनमें से किसी भी विभाग के अध्यक्ष अथवा उपाध्यक्ष का पद देने की कृपा करें, ताकि वो इस स्थिती में आ सकें कि उनके आने—जाने, अतिथि गृहो में रहने एवं कार्य करने के लिए प्रतीक चिन्ह मिल सकें।

उन्होंने लिखा है कि रिटायर होने के बाद जो पेंशन मिलेगा वो उनके परिवार के भरण-पोषण के लिए पर्याप्त होगा। ऐसे में 2019 में होने वाले लोक सभा चुनाव में पार्टी का प्रचार प्रसार कर योगी का सहयोग करना चाहते हैं।

यह चिट्टी कैसे लीक हुई यह बात तो अभी तक क्लियर नहीं हुई है। यह चिट्ठी वरिष्ठ आईपीएस ने लिखी भी है या नहीं यह भी अभी स्पष्ट नहीं है। हां लेकिन एक बात तो जरूर है कि अब चिट्ठी के सार्वजनिक होने के बाद योगी अगले चार दिनों में रिटायर हो रहे अपने इस आईपीएस की मांगों को सुन किसी पद से नवाजते हैं या फिर अनसुना कर देते हैं ये देखना बड़ा दिलचस्प होगा।

Related Posts

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *