फाइनल रिपोर्ट स्पेशल

सावधान: अब रेल म्यूजियम में प्रेमी जोड़े नही पढ़ पाएंगे प्रेम के ढाई अक्षर

rail-museum-2गोरखपुर: महानगर के प्रेमी जोड़ों के लिए खबर दुखदायी है। कारण, अब वे रेल म्यूजियम में प्रेम के ढाई आखर नही पढ़ सकेंगे। रेलवे म्यूजियम की घटती आमदनी देख अब रेल प्रशासन यहाँ रेल सुरक्षा बल के जवानों का पहरा लगा दिया है, जो किसी भी गलत हरकत पर पकड़कर आपको आपके अभिभावकों के समक्ष खड़े कर देंगे।
बता दें कि महानगर के प्रेमी जोड़ों की कुछ खास चुनिंदा जगहें है जहाँ वे अपनी प्रेमिका संग प्रेम के ढाई अक्षर पढ़ने अक्सर जाते देखे जाते है। महानगर की ऐसी चुनिंदा जगहों में रामगढ़ ताल रोड, मोहद्दीपुर स्थित विंध्यवासिनी पार्क उर्फ़ व्ही पार्क, कुसम्ही जंगल स्थित विनोद वन और मोहद्दीपुर रोड स्थित रेल महाप्रबन्धक कार्यालय के निकट रेल म्यूजियम शामिल है।
rail-museum-1जिनमे कुसम्ही जंगल स्थित विनोद वन सबसे सुरक्षित व एकांत में था ,किंतु महानगर से दूरी और पिछले कुछ दिनों से आपराधिक गतिविधियों के कारण प्रेमी जोड़ों ने उधर का रुख करना ही बंद कर दिया। इसके बाद सबसे नजदीक में रेल म्यूजियम ही बचता था जहाँ खान-पान की सुविधा के साथ रेल इतिहास को देखने समझने के साक्ष्य भी उपलब्ध थे। यही वजह भी थी कि परिजन भी अपने बच्चों संग इस जगह समय व्यतीत करने आते थे। क्योंकि बच्चों के लिए ये मनचाहा पिकनिक स्थल था।
किंतु बीते कुछ समय से यहां कथित प्रेमी जोड़ो द्वारा समय बिताने के साथ ही साथ उल-जुलूल हरकते करते देख लोग अपने परिवारों के साथ आना कम कर दिए। जिससे घटती आय देखकर रेल प्रशासन ने अब यहां सादे गणवेश में रेल सुरक्षा बल के महिला-पुरुष जवानों को लगा दिया है। जो म्यूजियम में आने वाले प्रेमी जोड़ों को नजर में रखेंगे और ज्योंही उनकी कोई भी गलत हरकत नजर आयी तो उन्हें दबोच लेंगे। जिसकी जानकारी उनके परिवार को बुलाकर देते हुए माफीनामा लिखने के बाद ही सौंपा जाएगा।
rail-museumइस सम्बन्ध में पूर्वोत्तर रेलवे के मुख्य सुरक्षा आयुक्त राजाराम का कहना है कि म्यूजियम में ऐसे प्रेमी जोड़ों की शिकायत पहले से मिल रही थी। अब इनसे निपटने के लिए एक योजना के तहत सादे वर्दी में जवानों को तैनात किया जा रहा है।

Related Posts

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *