बस्ती:नदी का कटान शुरू, घरों पर घाघरा की धारा में विलीन होने का खतरा मड़रा रहा है

TIME
TIME
TIME

बस्ती: जिले के हर्रैया विकास खण्ड़ अन्तर्गत माझा क्षेत्र के लगभग आधा दर्जन गांव में हो रही कटान से ग्रामवासी परेशान एंव भयभीत है।

लोगो का जमीन और घरो पर घाघरा की धारा में विलीन होने का खतरा मड़रा रहा है लेकिन प्रशासन द्वारा बचाव कार्य शुरू नही किए जाने से लोगो में आक्रोश व्याप्त है। गांव वालो ने अविलम्ब कटान रोकने का पाय किये जाने की मांग की है।

जानकारी के अनुसार बाघानाला, फूलडीह, रथापुर, कल्याणपुर, सहजौरा और दोई गांव में विगत शनिवार से घाघरा का कटान चल रहा है लेकिन मंगलवार को खबर लिखे जाने तक बचाव कार्य शुरू नहीं किया गया था जबकि बरसात के पूर्व ही भारतीय किसान यूनियन एंव ग्रामवासियों द्वारा बंधे का निरीक्षण करने गए जिलाधिकारी अरबिन्द कुमार सिहं को ज्ञापन देकर कटान की सम्भावना व्यक्त करते हुए से बचाव का उपाय किये जाने की मांग की थी।

जिलाधिकारी द्वारा मौके पर मौजूद अधिशाषी अभियन्ता डी.के. त्रिपाठी को बचाव कार्य शुरू किये जाने का निर्देश देते हुए ग्रामीणों को आश्वासन दिया था कि उन्हें कटान से नुकसान नहीं होने पायेगा। शनिवार को उक्त गांव में कटान शुरू हो गया। कई लोगों की फसले एंव हरे पेड़ घाघरा की धारा में विलीन हो गये।

कई लोग धारा में विलीन होने के खतरे को देखते हुए अपने हरे पेडो एंव खडी फसलो को काटकर हटा रहे है लेकिन कटान के शुरू होने के चार दिन बाद भी बाढ खण्ड़ द्वारा कोई ठोस कदम नहीं ठाया गया जिससे गांव वाले में व्यापक आक्रोश व्याप्त है।

अधिशाषी अभियन्ता डी.के. त्रिपाठी ने कहा कि मंगलवार को शाम तक गांव को कटान से बचाने का काम शुरू हो जायेगा। उन्होंनें कहा कि वर्ष 1971 में बंधे के साथ बने स्परो को बचाने के लिए बोरियों में ईंट और बालू भरकर मजबूती प्रदान की जायेगी।