गोरखपुर

जिला पंचायत चुनाव: प्रभारी मंत्री की शह पर प्रशासन निर्वाचन गाइड लाइन के विपरीत कर सकता है काम: विजय बहादुर यादव

Image-for-representation-1गोरखपुर: कल होने वाले जिला पंचायत अध्यक्ष के चुनाव में प्रभारी मंत्री की शह पर प्रशासन निर्वाचन गाइड लाइन के विपरीत काम कर सकता है। मंत्री की शह पर निर्वाचित सदस्यों को उत्पीड़ित किया जा रहा है।
उक्त आरोप अध्यक्ष पद के निर्दल व् बसपा समर्थित प्रत्याशी अजय बहादुर यादव के भाई एवम् गोरखपुर ग्रामीण विधानसभा के भाजपा विधायक विजय बहादुर यादव ने प्रेस कॉन्फ्रेंस में लगाया।
विजय बहादुर यादव ने कहा कि लोकतंत्र में जनता ही सर्वोच्च होती है।जब लोकतंत्र का शासन व् सत्ता के बल पर दमन किया जा रहा हो तो एक जन प्रतिनिधि होने की हैसियत से कैसे चुप रहा जा सकता है।
उन्होंने कहा कि प्रशासन व् सरकार दमनकारी नीति अपनाते हुए सत्ताधारी दल के प्रत्याशी को जिताने के लिए निर्वाचित सदस्यों व् उनके परिवारों को प्रलोभन और प्रशासनिक हथकंडे अपनाकर हर तरह से परेशान कर रही है।
ईमानदार अधिकारियो को निस्पक्ष कार्य करने के लिए दण्डित किया जा रहा है।जिसका उदाहरण निवर्तमान जिलाधिकारी है। प्रभारी मंत्री द्वारा चुनाव कराने के लिए जिस जिलाधिकारी को लाया गया है। उनके और मंत्री जी के गावों के बीच 9 किलोमीटर की दूरी है। ऐसे में चुनाव की निष्पक्षता का स्वतः अंदाजा लगाया जा सकता है।
उन्होंने कहा कि प्रभारी मंत्री द्वारा गुप्त मतदान न होने देने की धमकी दी जा रही है।मांग किया कि पूरी मतदान प्रक्रिया CCTV की निगरानी में कराई जाए।

Related Posts

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *