गोरखपुर

प्रभावशाली कैदी को लैपटॉप मोबाइल उपलब्ध कराने को लेकर मंडलीय कारागार में बंदियों ने किया हंगामा

District-Jail-Gorakhpurगोरखपुर: सत्ता दल के एक प्रभावशाली सजायाफ्ता कैदी को मोबाईल फोन, लैपटॉप व अन्य सुविधा को जेल में उपलब्ध कराये जाने को लेकर और विरोध करने पर जेल प्रशासन द्वारा जेल के बंदियों के खिलाफ की जा रही सख्ती के कारण बंदियों ने हंगामा खड़ा कर दिया।
कैदियों द्वारा भूख हड़ताल की सूचना मिलते ही जेल अधीक्षक मौके पर पहुचे और कैदियों को समझा बुझाकर किसी तरह शान्त कराया ।
कैदियों का आरोप है की जेल में सजायाफ्ता सत्ता दल के एक प्रभावशाली कैदी को मोबाईल फोन के साथ ही अन्य सुविधाये दी जा रही है। जेल के कैदियों द्वारा मोबाईल से बात करने की सुचना पर वरिष्ठ जेल अधीक्षक एस के शर्मा ने सख्ती बरती ।
जबकि एक सयजफ्ता सत्ता दल के एक प्रभावशाली कैदी द्वारा मोबाईल फोन से जेल से बहार फोन किया जाता है जब इसकी जानकारी जेल के कैदियों को हुई तो इससे नाराज होकर बैरक संख्या एक तथा सात व आठ नंबर में रहने वाले नाराज कैदी अनशन पर बैठ गए।
बताते चले की मण्डलीय कारागार में 1506 पुरुष तथा 83 महिला बंदी है जिसमे पुरुष बंदियों में 300 बंदी सजायाफ्ता है तथा महिला बन्दीयो में 11महिला बंदी सजायाफ्ता है। शेष सभी बंदी विचाराधिन चल रहे है।
सूत्र बताते है की विगत 15 वर्ष पहले कोर्ट को अगर छोड़ दे तो अबतक शासन स्तर पर कोई रिहाई नहीं की गई , इससे भी जेलो में कैदियों की संख्या काफी बढ़ गई है ।
ब्लाक प्रमुख का चुनाव को लेकर जेल प्रशासन की सख्ती
मण्डलीय कारागार में भी काफी दुर्दान्त अपराधी थे लेकिन शिकायत मिलने के बाद जेल प्रशासन सक्रिय हुवा और इनको गैर जेलो में ट्रांसफर किया। इसमें मऊ जिला के एक माफिया के शार्प शूटर अनुज कनोजिया को मेरठ जेल भेजा गया। आरोप है कि अनुज की माँ ब्लाक प्रमुख का चुनाव लड़ रही है और यह जेल से अपने इलाके के क्षेत्र पंचायत सदस्यों को फोन पर ही अपने पक्ष में वोट डालने की धमकी दे रहा था।
इसी तरह शातिर किस्म के अपराधियो को प्रदेश के गैर जनपदों के जेलो में स्थानांतरित किये जाने की तैयारी भी की जा रही है

Related Posts

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *