गोरखपुर

सांसद आदित्यनाथ ने भगवान श्रीराम के खिलाफ मुकदमा दर्ज कराने वाले के खिलाफ सख्त सजा की मांग की

Gorakhpur-MP-Adityanathगोरखपुर: शहर सांसद और गोरक्षपीठाधीश्वर महंत योगी आदित्यनाथ ने बिहार के सीतामढ़ी में भगवान श्रीराम और लक्ष्मण के खिलाफ मुकदमा दर्ज कराने पर नाराजगी जाहिर व्यक्त करते हुए कहा है की यह केवल सस्ती लोकप्रियता हासिल करने की शरारतपूर्ण चेष्टा है और ऐसे लोगों को सख्त से सख्त सजा देनी चाहिए जिस से कोई अन्य व्यक्ति इस तरह की हिम्मत न कर सके।
उन्होंने कहा की यह कदम न्यायालय के कार्य को बाधित करके आम जन को न्याय से वंचित करने की एक कुत्सित चेष्टा भी हैं। इस प्रकार के लोगों पर भारी फाइन लगा के उनको कड़ी सजा दी जानी चाहिए।
महंत योगी आदित्यनाथ ने कहा की जो लोग शाश्त्रों के वास्तविक मर्म को नहीं समझते हैं वे इस प्रकार की अनावश्यक बातों पर समय बर्बाद करते हैं।
उन्होंने कहा की,” न्यायालय आमजन को न्याय देने के लिए बनाई गई है। इस प्राकार की फिजूल की बातों के लिए नहीं,”।
आपको बतादे की बिहार के सीतामढ़ी में अधिवक्ता ठाकुर चंदन कुमार सिंह ने भगवान श्रीराम और लक्ष्मण के खिलाफ धारा 363/34 के तहत अभियोग पंजीकृत कराया है।
उनका कहना है कि भगवान श्रीराम ने सीता जी को जंगल में भेजकर अन्याय किया है। एक पति द्वारा पत्नी को जंगल में भेजने के पहले उसे यह सोचना चाहिए था कि या फिर वह अपने घने और आच्छादित जंगलों में कैसे रहेगी जब कि वहां जंगली जानवरों का भी डर है।
अधिवक्ता श्री सिंह ने सवाल किया कि भगवान राम ने सीता को जंगल में क्यों भेजा जब कि उनका कोई कसूर नहीं था। उन्होंने अन्य धाराओं के लिए न्यायालय से मार्गदर्शन भी मांगा है।

 

Related Posts

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *