गोरखपुर

हॉस्टल की संचालिका पर लगा 60 लाख रुपये हड़पने का आरोप

Accused-womanगोरखपुर: कोतवाली इलाके के विजय चौराहे पर ब्वायज हॉस्टल चलाने वाली पर एक महिला ने 60 लाख रुपए हड़पने का आरोप लगा है। आरोप है की हॉस्टल के शेयर में रुपए इनवेस्ट कराकर संचालिका ने सबका हिस्सा हड़प लिया।
शेयर की एवज में फायदा न मिलने पर पार्टनर ने शिकायत दर्ज कराई। मंगलवार को महिला हॉस्टल संचालक को पकड़कर पुलिस के हवाले कर दिया गया। कोतवाली पुलिस मामले की जांच पड़ताल में जुटी है। इंस्पेक्टर ने कहा कि पीडि़त पक्ष की तहरीर मिली थी। लेकिन बाद में दोनों पक्षों ने सुलह कर लिया।
मंगलवार को अलीनगर कुर्मियान टोला की कई महिलाएं कोतवाली पहुंची। महिलाओं ने विजय चौराहा, गैस गोदाम गली में ब्वायज हॉस्टल की संचालिका पर रुपए हड़पने का आरोप लगाया। महिलाओं के हो हल्ला करने पर पुलिस ने संचालिका को हिरासत में ले लिया।
Kotwali-thana,-Gorakhpurमहिलाओं ने कहा कि हॉस्टल में शेयर देने के नाम पर उनसे 60 लाख रुपए ठगी की गई है। हॉस्टल की कमाई से उनको मुनाफा नहीं दिया जा रहा है और ना ही संचालिका मूल रकम लौटा रही है।
दबाव देने पर संचालिका ने कुछ लोगों को चेक दिया लेकिन एकाउंट में रुपए ना होने से चेक बांउस हो गए। पीडि़त महिलाओं से तहरीर लेकर पुलिस जांच में जुट गई.
पीडि़तों ने पुलिस को बताया कि संचालिका पांच साल पहले गोरखपुर आई थी। किसी परिचित की मदद से अलीनगर के कुर्मियान टोला में शशि पांडेय के मकान में किराये पर ठिकाना बनाया।
हॉस्टल बनाने के लिए मोहल्ले की महिलाओं से चर्चा की। रुपए लगाने पर हॉस्टल की फीस से मुनाफा देने का वादा किया। कई लोगों से रकम इकट्ठा करके संचालिका ने विजय चौक स्थित गैस गोदाम गली में 170 बेड का हॉस्टल बनवाया।
People-gathered-at-Kotwali-स्टूडेंट्स के एडमिशन पर पांच से आठ हज़ार तक फीस तय हुई। तीन साल पहले बने हॉस्टल में 50 बच्चे रह रहे हैं। हॉस्टल शुरू होने पर कुछ दिनों तक संचालिका ने शेयरदारों को मुनाफा दिया। फिर बाद में किसी तरह का लाभ देने से मना कर दिया।
संचालिका पर ठगी का आरोप लगाते हुए पीडि़त महिलाओं ने तहरीर दी। कोतवाली एरिया के अलीनगर, कुर्मियान टोला मोहल्ले की शशि पांडेय ने 15 लाख, इसी मोहल्ले की रीना देवी ने 13 लाख, सीता देवी ने छह लाख, राजेंद्र नगर मोहल्ले की शांति देवी ने 13 लाख और चौरहिया गोला इस्माइलपुर की चंदा देवी ने तीन लाख रुपए हॉस्टल संचालिका को देने का दावा किया।
महिलाओं ने कहा कि 15 से अधिक लोगों को झांसा देकर आरती ने करीब 60 लाख रुपए हड़प लिए हैं. कोतवाली पर चार घंटे तक चली पंचायत में आरोप लगाने वाली महिलाओं ने संचालिका से समझौता कर लिया। बिना मुकदमा दर्ज कराए दोनों पक्ष चले गए।
हॉस्टल संचालिका ने कहा कि मुझे लोगों ने रुपए सूद पर उधार दिए थे। मैं सबके रुपए लौटा रही हूं और किसी का बकाया नहीं रहेगा। उसका कहना था की हॉस्टल में बच्चे रहते हैं और धीरे-धीरे वो सभी का पैसा दे देगी।
इंस्पेक्टर कोतवाली विजय राज सिंह ने बताया कि दोपहर में पीडि़त महिलाओं ने तहरीर दे कर आरोपी संचालिका के खिलाफ मुकदमा दर्ज करने की मांग
की। दो तीन घंटे बाद आपस में समझौता करके चली गईं। हॉस्टल संचालिका ने सभी का रुपए लौटाने का आश्वासन दिया है।

Related Posts

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *