गोरखपुर

कुशीनगर की घटना सरकार की हिन्दू विरोधी गतिविधियों को प्रश्रय देने का परिणाम: आदित्यनाथ

Gorakhpur-MP-Yogi-Aditynathगोरखपुर: शहर सांसद योगी आदित्यनाथ ने कहा है की उत्तर प्रदेश सरकार हिन्दू विरोधी गतिविधियों को प्रश्रय दे रही है और इसी का दुष्परिणाम है जहाॅ पश्चिमोत्तर उत्तर प्रदेश में कई कस्बों में हिन्दू पलायन के लिए मजबूर है वहीं कुशीनगर जनपद में एक मासुम बच्चे का जबरन खतना (मुसलमानी) हो जाता है।
विभिन्न जगहों पर हिन्दू विरोधी घटनाओं पर अपनी प्रतिक्रिया देते हुए कहा की पूरे प्रदेश में जंगलराज की स्थिति है। कानून व्यवस्था ध्वस्त हो चुकी है। उन्होंने कहा की प्रशासन हिन्दू विरोधी गतिविधियों पर सख्ती से रोक लगाये और दोषी अपराधियों के खिलाफ सख्त कार्यवाहीं करें अन्यथा इस अराजकता के खिलाफ भीषण आन्दोलन होगा।
उन्होंने कहा कि उत्तर प्रदेश के अन्दर हिन्दू विरोधी गतिविधियां शासन की शह पर हो रहे है। एक वर्ग विशेष के अपराधियों, दुष्कर्मियों का दुष्साहस इस कदर बढ़ गया है जो न केवल हिन्दू आस्था व धार्मिक व्यवस्था पर हमला कर रहे है, हिन्दू माॅ-बहिन की इज्जत के साथ भी सरेआम खिलवाड़ हो रहा है, अपितु बच्चें भी उनकी दरिन्दगी से नही बच पा रहे है।
उन्होंने आरोप लगाया की अपराधी एक वर्ग विशेष के होते है तो प्रशासन भी इन पर कार्यवाहीं नही करता, ईमानदार पुलिस अधिकारी निलंम्बित होंगे। भ्रष्ट, अपराधियों को संरक्षण देने वाले एक वर्ग विशेष तथा जाति विशेष का पक्ष लेने वाले पुलिस अधिकारियों को अच्छी पोस्टिंग और उनको सम्मानित करने का कार्य पिछले 4 वर्षों में प्रदेश सरकार ने किया है। इसी का दुष्परिणाम है कि पूरा प्रदेश अराजकता की आग में झुलस रहा है।
आदित्यनाथ ने कहा प्रदेश में कानून का राज न होकर, पेशेवर अपराधियों और माफिया सरगनाओं, दुष्कर्मियों और दुराचारियों का समान्तर सरकार चल रही है। ऐसे तत्वों के खिलाफ आवश्यक कार्यवाहीं करने की बजाय प्रदेश सरकार और उसके जनप्रतिनिधि सीधे-सीधे ऐसे तत्वों का प्रश्रय दे रही है। गोरखपुर में वरिष्ठ पुलिस अधिकारियों का निलम्बन इस बात का प्रमाण है।
उन्होंने कहा जिस भूमि विवाद में समाजवादी पार्टी के एक नेता आजीवन कारावास की सजा भुगत रहे है उसी भूमि से सम्बन्धित विवाद पर सरेआम गोली चलना मथुरा की घटना की पुनरावृत्ति को प्रदर्शित करता है। मथुरा में दो-दो पुलिस अधिकारी शहीद हुये। क्या समाजवादी पार्टी सरकार और उसका संगठन पेशेवर अपराधियों और गुण्डों के लिए आम नागरिकों, पुलिस एवं प्रशासन के अधिकारियों को शहीद करते रहेंगे? शासन की कार्यवाहीं सीधे-सीधे अपराधियों को बचाने, ईमानदार और कर्तव्यनिष्ठ अधिकारियों को अपमानित करने जैसी है जो किसी भी स्थिति में स्वीकार्य नही होनी चाहिए।
उन्होंने चेतावनी देते हुए कहा की प्रदेश सरकार के संरक्षण में चल रही अराजकता और गुण्डाराज के खिलाफ भीषण आन्दोलन का शंखनाद होगा।
हमारा फेसबुक पेज LIKE करना न भूले:
fb
AD4-728X90.jpg-LAST

Related Posts

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *