गोरखपुर

जाकिर जैसे लोग किसी सम्प्रदाय के धर्मगुरु नही हो सकते: योगी आदित्यनाथ

BJP-MP-Yogi-Adityanathगोरखपुर: बीजेपी सांसद व महंत योगी आदित्यनाथ ने मुस्लिम धर्मगुरु जाकिर नाइक पर करारा प्रहार करते हुए कहा है कि जाकिर जैसे लोग किसी भी समुदाय के धर्मगुरु नहीं हो सकते। ये इस्लाम के दुश्मन हैं। सही मायने में यदि पूरी दुनिया में अगर इस्लाम को आतंकवाद के पर्याय के रूप में देखा जा रहा है, तो इसके लिए जाकिर नाइक जैसे लोग दोषी हैं।
योगी ने कहा कि सरकार जाकिर के सोर्स आफ फंड की भी जानकारी जुटाए। क्योंकि वह अपनी दुष्प्रवृत्ति और दूषित मानसिकता के साथ जीता है और उस प्रकार के वक्तव्य देता है। लिहाजा सरकार को उसके खिलाफ कार्रवाई करनी चाहिए और उसे प्रतिबंधित करना चाहिए।
ओसाबा बिन लादेन के समर्थन के सवाल पर उन्होंने कहा कि इसीलिए तो जाकिर जैसे लोगों ने इस्लाम को पूरी दुनिया के शक की नजरों से देखने के साथ कटघरे में खड़ा किया है। इस्लाम के अनुयायी जब तक ऐसे लोगों को प्रश्रय देते रहेंगे, तब तक विश्वसनीयता का संकट दिखेगा।
कांग्रेस महासचिव दिग्विजय सिंह के वीडियो में जाकिर के साथ दिखने के सवाल पर उन्होंने कहा कि कांग्रेस की ही रणनीति रही है, कांग्रेस की अपंगता के कारण इस तरह के लोग भारत विरोधी राग अलापते हैं और सनातन हिन्दू धर्म के खिलाफ भी अनर्गल प्रलाप करते हैं। उन्हें नहीं मालूम जब देश का हिन्दू अपना संयम खोएगा तो इसकी परिणिति क्या होगा।
जिस तरह से लगातार इस्लामी आतंकी संगठन के द्वारा हमले किये जा रहे है, उसमे बहुत सारे हिन्दू मारे गए, इसको लेकर विश्व हिन्दू परिषद् ने अब मिशन बांग्लादेश शुरु किया है, इस पर योगी ने कहा कि देखिये चिंताजनक स्थिति है, पुरे दुनिया के अन्दर, जिस प्रकार की स्थितिया पैदा हुई है, और बँगला देश में ख़ास तौर पर अल्पसंख्यक हिन्दुओ की सुरक्षा जिस प्रकार खतरे में पड़ी है। वह आवश्य ही चिंताजनक है, और भारत सरकार ने इस सम्बन्ध में बांग्लादेश सरकार के समक्ष उन पीड़ित लोगो की बात को रखा है। दुर्भाग्यपूर्ण पक्ष ये है, कि बांग्लादेश में जो हुआ है, ये अचानक एक दिन में नहीं हुआ है।
उन्होंने कहा की लम्बे समय से वहा पर हो रही घटनाए, हिन्दू मंदिरों पर हो रहे हमले, बँगलादेश के लगभग अधिकतर मंदिरों से मुर्तिया गायब हो गई है, या तोड़ दी गई है। उन्होंने सिम्पली रूप से उन्होंने वहां के भक्तो ने पुजारियों ने सीमेंट की मुर्तिया बनाई है, और वहा पर अल्पसंख्यक समुदाय के जितने भी लोग है, उन पर हमले हो रहे है। एक रेस्टोरेंट पर हमला इस आधार पर होता है,कि कुरआन की आयत जिसको नहीं आती है, उनकी ह्त्या कर दी जाए, ये एक चिंताजनक स्थिति है।
उन्होंने कहा की क्योकि तमाम हमलो में वहा के सत्ता धारी दल से जुडे हुए नेताओं से जुड़े हुए सदस्यों के नाम आये है, ये और भी चिंताजनक स्थिति है, ये नहीं भूलना चाहिए, कि आज बांग्लादेश का प्रत्येक व्यक्ति पाकिस्तानी दरिंदगी से सुरक्षित है, उसमे भारतीय फौजों के जवानो का बहुत बड़ा योगदान रहा है, बांगलादेश के निर्माण में भारत के जवानो के बलिदान और उनके सहादत को बिसमित नहीं किया जाना चाहिए। लेकिन आज जो कुछ वहा पर हो रहा है, वो चिंताजनक है|
हमारा फेसबुक पेज LIKE करना न भूले:
fb

Related Posts

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *