गोरखपुर

अग्रवाल महिला मंडल में बसंत व वेलेंटाइन क़ी रही धूम, मस्ती में रही सास बहुएं

सुगंधा श्रीवास्तवा
गोरखपुर: जहां एक ओर पश्चिमी सभ्यता ने भारत के गॉव तक अपने पाँव जमा लिये हैं वहीँ दूसरी तरफ भारतीय समाज का एक ऐसा वर्ग भी है जो अपनी संस्कृति और सभ्यता को ना सिर्फ संजोये रखना चाहती है बल्कि आने वाली पीढ़ी से भी उसका सरोकार रखना चाहती है। अग्रवाल भवन में बसंत और वेलेंटाइन समारोह में शिरकत कर रही अग्रवाल महिला मंडल क़ी अध्यक्ष मधु अग्रवाल ने त्योहारों के महत्ता पर अपना मत रखते हुए हिन्दू धर्म को संसार का अनूठा और सर्वोत्तम धर्म कहा।

इसी क्रम में गोरखपुर अग्रवाल महिला मंडल की सदस्यगण अपने सभी तीज त्योहारों को अपनी पीढ़ी के अलावा बहू बेटियों के साथ हर्षोल्लास के साथ मानते है। आज अग्रवाल भवन में बसंत व् वेलेंटाइन डे कार्यक्रम का आयोजन किया गया जिसमे बसंत और वेलेंटाइनडे पर आधारित फन गेम्स, प्रदूषण व् उनके खतरों पर आधारित स्क्रिप्ट और लड़कियों के कम होते अनुपात को लेकर एक लघु नाटिका का मंचन किया गया।

इस कार्यक्रम में बसंत और वेलेंटाइन क्वीन प्रतियोगिता का भी आयोजन किया गया. अध्यक्ष मधु अग्रवाल ,सचिव दीपाली अग्रवाल ने सबका खुले दिल से स्वागत किया. इस कार्यक्रम में संस्थापिका मंजुल अग्रवाल,संथापिका अध्यक्ष सुधा मोदी, मीनू, रीता, शालिनी, रश्मि,सीमा,स्मिता, संगीता,अर्चना, शशि मंजू,अनीता,मोनिका आभा,आदि ने बढ़चढ़ कर हिस्सा लिया।

सर्वोदय महिला सभा द्वारा भी एक अन्य कार्यक्रम में बसंत क्वीन प्रतियोगिता का आयोजन किया गया। इस कार्यक्रम में पिकनिक के साथ ही साथ गेम्स भी खेले गए। बसंत क्वीन रही बीना सिंह एक गृहिणी है। गोरखपुर की पूर्व मेयर डा सत्या पांडेय भी इस कार्यक्रम में उपस्थित रही। उनके अलावा वीतिका माथुर,शशि अग्रवाल,अंजू महाजन, उर्मिल कालिया और मीरा करमचंदानी भी इसमें शामिल रही। कार्यक्रम के महत्व के बारे में बताते हुए वीतिका माथुर ने कहा कि घने कोहरे के बाद आसमान साफ़ होता है सूरज की किरणे जब धरती पर पड़ती है तब फसलें लहलहा उठती है मानो धरती और आसमान और इसके बीच में रहने वाले सभी प्राणियों क लिए यह मौसम बेहद खुशनुमा हो उठता है।

Related Posts

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *