गोरखपुर

भाजपा युवा मोर्चा के नेता ने राहुल गाँधी के लिए 'पागलखाने' में बुक कराया बेड!

rg-bed
गोरखपुर: एक जगह जहाँ दिल्ली में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और विपक्ष के बीच बातचीत में जवाहर लाल नेहरू विश्वविद्यालय (जेएनयू) छात्र संघ अध्यक्ष के खिलाफ देशद्रोह का मामला दर्ज करने का मुद्दा उठा तो यहाँ दूसरी तरफ गोरखपुर के भाजपा युवा मोर्चा के महामंत्री अभिजात मिश्रा ने केजीएमसी लखनऊ के मानसिक विभाग (पागलखाना) में राहुल गाँधी का एडमिशन और बेड बुक कराया|
हालाकिं केजीएमसी ने कार्यवाही करते हुए, पर्चा बनाने वाले कर्मचारी को ससपेंड कर दिया। एक दिन पहले ही जेएनयू मामले पर गोररखपुर में एबीवीपी के छात्रों ने महानगर में प्रदर्शन कर राहुल गाँधी के खिलाफ कैंट थाने में तहरीर दी|
abvp
बीते दिनों देश के अति प्रतिष्ठित विश्वविद्यालय जवाहर लाल नेहरू में सांस्कृतिक संध्या के अवसर पर कतिपय छात्रों द्वारा आतंकियों का गुड़गांन करने और दूसरे दिन उक्त कार्यक्रम का टी वी चैनलो पर प्रसारण के बाद JNU मामले पर सियाशत इस कदर गरमा गई है, की अब विरोधी पार्टी उसे राजनीतीक मोड़ देकर अपनी रोटी सेकने में जुट गई है।
भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) के अध्यक्ष अमित शाह ने जवाहर लाल नेहरू विश्वविद्यालय(जेएनयू) विवाद को लेकर कांग्रेस उपाध्यक्ष राहुल गांधी के रवैये पर हमला बोला और कहा कि उन्हें राष्ट्रीय हितों की परवाह नहीं है। शाह ने अपने ब्लॉग में कहा कि जवाहरलाल नेहरू विश्वविद्यालय में राष्ट्र विरोधी गतिविधियों को बढ़ावा देने के लिए उन्हें देश से माफी मांगनी चाहिए।
उन्होंने कहा कि देश में किसी देश-विरोधी गतिविधि की अनुमति नहीं मिलेगी। उन्होंने अपने ब्लॉग में लिखा, “कोई भी नागरिक यह स्वीकार नहीं कर सकता कि देश के एक प्रतिष्ठित विश्वविद्यालय में एक आतंकवादी का पक्ष लिया जाए और देश-विरोधी नारे लगाए जाएं।”
उन्होंने कहा, “लेकिन राहुल गांधी और उनके पार्टी सहयोगियों ने जेएनयू परिसर में जिस तरह के बयान दिए, उनसे साबित होता है कि उनके मन में राष्ट्रहित के लिए कोई जगह नहीं है।”
gandhi
उल्लेखनीय है कि पिछले दिनों संसद हमले के दोषी अफजल गुरु और जम्मू एवं कश्मीर लिबरेशन फ्रंट के सह-संस्थापक मकबूल बट की बरसी के मौके पर जेएनयू में एक कार्यक्रम आयोजित किया गया था। इस कार्यक्रम में देश-विरोधी नारे लगे थे। छात्रसंघ अध्यक्ष कन्हैया कुमार पर विद्यार्थियों को इस बाबत उकसाने का आरोप है, जिसके चलते उनकी गिरफ्तारी हुई। इस मामले को लेकर जेएनयू सुर्खियों में है।
दिल्ली पुलिस ने गुरुवार को कन्हैया कुमार के खिलाफ उकसाने का मामला दर्ज किया और उन्हें गिरफ्तार कर लिया। उन्हें शुक्रवार को तीन दिन की पुलिस हिरासत में भेज दिया गया। हालांकि उन्होंने देश-विरोधी नारेबाजी करने की बात से इंकार किया है।
VIDEO:

जेएनयू घटना विश्वविद्यालय की शैक्षिक अराजकता को प्रदर्शित करता है: योगी आदित्यनाथ

जेएनयू की घटना निंदनीय ही नही शर्मनाक भी: योगी आदित्यनाथ

जेएनयू घटना: बंद हो सेकुलरिज्म के नाम पर राष्ट्रीय अस्मिता से खिलवाड़: योगी आदित्यनाथ

fb
AD4-728X90.jpg-LAST

 

Related Posts

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *