गोरखपुर

मोहद्दीपुर से जंगल कौड़िया वाया गोरखनाथ इंटर कनेक्टेड सीसी फोरलेन रोड का निर्माण शीघ्र

गोरखपुर: अब शहर में केंद्र सरकार की मदद से सड़कों का जाल बिछाने की तैयारी हो चुकी है। पिछले दिनों केंद्रीय सड़क परिवहन मंत्री नितिन गडकरी द्वारा कालेशर् में जंगल कौड़िया होते हुए सोनवनी फोरलेन के एन एच 29ए के शिलान्यास के वक्त किया गया वादा पूरा होते दिख रहा है।
इस क्रम में अब शहर के अंदर इंटरकनेक्ट रोड के माध्यम से मोहदीपुर चौराहे से रेलवे स्टेशन होते हुए गोरखनाथ मंदिर के रास्ते जंगल कौड़िया तक प्रोजेक्टेड सीसी फोरलेन मोहद्दीपुर से रेलवे स्टेशन, निर्माण हेतु विभागीय सर्वे लगभग पूरा हो चुका है। प्रायोजित कार्य से संबंधित विभाग प्रायोजित सड़क पर होने वाले खर्च का ब्यौरा तैयार करने में जुट गई है। जिसमें लगभग 1 सप्ताह का समय डीपीआर तैयार करने में लगने की संभावना है।
बता दें पहले एन एच 24 और एन एच 29 के शिलान्यास को आए केंद्रीय मंत्री नितिन गडकरी ने गोरखपुर में सड़कों का जाल बिछाने का वायदा किया था और स्थानीय सांसद योगी आदित्यनाथ ने इस संबंध में उन्हें कई परियोजनाओं से संबंधित एक मांग पत्र भी सौंपा था। जिसे देखते हुए उन्होंने मंच से आश्वासन दिया था कि हमारे पास वह अक्षय पात्र है जो कभी खाली नहीं होगा।
अब केंद्र के मंत्री द्वारा उक्त मामले में कदम उठाने के बाद और पिछले 26 मार्च को जीडीए सभागार में मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने अफसरों से प्रस्तावित सड़क को लेकर डीपीआर तैयार करने को जब कहा तो त्वरित कार्यवाई के तहत इसका सर्वे भोपाल की कंपनी कर रही है। कम्पनी के सर्वे टीम ने बीते दिवस जंगल कौड़िया से गोरखनाथ होते हुए मोहद्दीपुर में सर्वे किया। टीम के सदस्यों ने कहा कि एक दो दिन में पूरी रिपोर्ट विभाग को सौंप दी जाएगी।
सर्वे में यातायात के बढोत्तरी को देखते हुए गोरखनाथ ओवरब्रिज के चौड़ा करने की भी योजना प्रस्तावित की जानी है। सांसद रहते योगी आदित्यनाथ ने मोहद्दीपुर से जंगलकौड़िया तक सीसी फोरलेन का प्रस्ताव पिछले वर्ष केन्द्रीय मंत्री नितिन गडकरी के सामने रखते हुए इस सड़क को गोरखपुर में ट्रैफिक जाम से निपटने के लिए जरुरी बताया था।जिसे सुनकर गडकरी ने तत्काल ही मंच से एनएचएआई के अफसरों को डीपीआर बनाने का निर्देश दिया था।
हालाँकि पिछली सपा सरकार में विभाग लापरवाह बना हुआ था।किन्तु अब खुद योगी आदित्यनाथ के सीएम बनने पर विभागीय अधिकारियों को इस मामले की याद आ चुकी है।इस सम्बन्ध में पीडब्लूडी के अधीशासी अभियंता रामजीत प्रसाद ने बताया कि सर्वे रिपोर्ट मिलने के बाद जल्द ही डीपीआर तैयार कर शासन को भेज दिया जाएगा।

Related Posts

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *