गोरखपुर

गोरखपुर विश्वविद्यालय दीक्षांत समारोह: गाउन की जगह लेगा कुर्ता-पायजामा, राजनाथ सिंह होंगे मुख्य अतिथि

convocationगोरखपुर: 22 फरवरी को होने वाले दीनदयाल उपाध्याय गोरखपुर विश्वविद्यालय के 34वें दीक्षांत समारोह के मुख्य अतिथि गृह मंत्री राजनाथ सिंह होंगे। यह जानकारी दीक्षांत लोगो डिजाइन का लोकापर्ण करने के बाद विश्वविद्यालय के कुलपति प्रो अशोक कुमार ने दी । गोविवि बीए द्वितीय वर्ष की छात्रा मंशा के डिजाइन लोगो का चयन किया गया है।
प्रो अशोक कुमार ने बताया कि दीक्षांत समारोह की तैयारी जोरों पर है। दीक्षांत सप्ताह का शुभारंभ 15 फरवरी स्टेम सेल पर कुलपति के व्याख्यान से किया जायेगा। इसके अलावा दीक्षांत सप्ताह के दौरान विभिन्न विद्वानों के व्याख्यान होंगे।
इस बार दीक्षांत समारोह में गाउन की जगह लेगा कुर्ता पायजामा और कैप की जगह लेगा कंधे पर टंगा उत्तरीय। छात्राएं साड़ी या सलवार-कुर्ते में नजर आयेंगी। यहां तक कि विद्वत परिषद भी सूट के साथ कंधे पर उत्तरीय टांगे विद्वत यात्रा में भाग लेगी और मंचासीन होगी। मुख्य अतिथि व कुलपति भी नजर आयेंगे उत्तरीय में।

जेएनयू घटना विश्वविद्यालय की शैक्षिक अराजकता को प्रदर्शित करता है: योगी आदित्यनाथ

इस बार गोरक्षपीठ की जानिब से महंत दिग्विजयनाथ, महंत अवेद्यनाथ, महंत गंभीरनाथ व एक अन्य के नाम से चार स्मृति पदक दिए जाएंगे। दो शोध व एक स्नातक व एक परास्नातक स्तर पर प्रदान किया जायेगा।
उन्होंने बताया कि इस बार दीक्षांत समारोह में आकर्षक बनाने के लिए विश्वविद्यालय पर केन्द्रित छाया चित्रों की प्रतियोगिता करायी जायेगी। जिस का थीम ‘ यूनिवर्सिटी – मूड्स एण्ड शेड्स ‘ होगा। यह एक खुली प्रतियोगिता होगी जिसमें हर कोई प्रतिभाग कर सकता है। पुरस्कार दो श्रेणियों में दिया जायेगा।
DDU-University-Gorakhpur
दीक्षांत सप्ताह के अंतर्गत इन सभी छायाचित्रों की प्रदर्शनी भी लगायी जाएगी तथा निर्णायकों द्वारा चयनित प्रथम तीन प्रविष्टियों को पुरस्कृत भी किया जायेगा. विश्वविद्यालय के विद्यार्थियों के लिए पुरस्कारों की एक अलग श्रेणी भी बनायी गयी है।

जेएनयू प्रकरण में एबीवीपी ने राहुल गाँधी के खिलाफ दी कैंट थाने में तहरीर

कला प्रदर्शनी विवि के शिक्षकों व विद्यार्थियों द्वारा लगायी जायेगी। इसमें पूर्वांचल की संस्कृति की झलक नजर आयेगी। 19 फरवरी को सांस्कृतिक कार्यक्रम के अलावा कवि सम्मेलन व मुशायरे का आयोजन होगा। इसी दिन गोविवि स्थापना से लेकर वर्तमान कुलपतियों को सम्मानित किया जायेगा। दीक्षांत लोगो डिजाइन विजेताओं को पुरस्कृत किया जायेगा।
उन्होंने बताया कि मेडल लेने वाले मेधावियों के साथ परिवार के दो लोगो को इंट्री मिलेगी। छात्रसंघ के पूर्व पदाधिकारियों व कार्यकारिणी सदस्यों को भी आमंत्रित किया जायेगा। दीक्षांत में महाविद्यालयों के प्रबंधक व प्राचार्य भी शिरकत करेंगे। सभी कार्यक्रम गोविवि के खेल ग्राउंड पर होंगे। सांस्कृतिक कार्यक्रम व कवि सम्मेलन व मुशायरा दीक्षांत समारोह में होगा।

ज़रूर पढ़े: Famous Markets Of Gorakhpur | गोरखपुर के प्रसिद्ध बाज़ार

TOP EDUCATIONAL INSTITUTIONS IN GORAKHPUR

GORAKHPUR: Origin, history and why it is called the ‘heart’ for ‘Purvanchal’

fb
AD4-728X90.jpg-LAST

 

Related Posts

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *