गोरखपुर

गोला: विधायक निधि से दस वर्ष पूर्व लगा हाई मास्ट पोल मकान पर गिरा

गोरखपुर: जनपद के गोला तहसील मुख्यालय से गोला उरुवा सड़क मार्ग पर स्थित गोपालपुर से झरकटा जाने वाले सड़क मोड़ पर विधायक निधि से दस वर्ष पूर्व लगा हाई मास्ट पोल जड़ से टूट कर सामने खड़े मकान पर दो दिन पूर्व आयी हवा के झोंके में गिर पड़ा। पोल के सामने अगर पक्का मकान नही होता तो सम्भवतः किसी न किसी की जान पर मुसीबत आ गयी होती।

इस विधायक निधि से लगने वाले पोल को कौन विभाग देख रहा है। इसका आज तक पता नही चल पाया है। वैसे गोला क्षेत्र में लगे इस निधि से लगाए गए सारे हाई मास्ट लगभग बन्द पड़े है या तो टूट कर गिर चुके है। इस व्यवस्था से क्षेत्र के लोगो मे भारी आक्रोश व्याप्त है।

बताते चले कि शासन की मंशा रही कि रात में चौराहो पर पथ प्रकाश की व्यवस्था दी जाय जिससे रात में कुछ दूर तक उजाला बना रहे। इस मंशा को दृष्टिगत रखते हुये 2007 में धुरियापार विधान सभा क्षेत्र में सपा से चुनाव जीते राजेन्द्र सिंह उर्फ पहलवान सिंह ने अपने विधान सभा क्षेत्र में विधायक निधि से प्रति हाइमास्ट एक लाख पैतीस हजार रुपये की लागत से चौराहो व सार्वजनिक स्थलों पर लगवाया।

हाई मास्ट लगने के बाद कोई एक माह जला, कोई नही जला। इसकी शिकायत करने के बाद भी कोई देखने वाला नही रहा। धीरे -धीरे मरम्मत के अभाव में क्षेत्र में लगे सारे हाई मास्ट पूरी तरह खराब हो गए। पोल की जड़े भी सड़नी शुरू हो गयी और सारे पोल धीरे धीरे ध्वस्त होना शुरू कर दिए। जिस हाइ मास्ट पोल को अपने दरवाजे व नजदीक में लगाने के लिए क्षेत्र के लोगो को काफी मसक्कत करना पड़ा था।

स्थिति इस कदर हो गयी कि जिनके घर के नजदीक व सामने ये पोल लगे हैं।उनको दिन रात बैठ कर अपनी सुरक्षा के विषय मे सोचना पड़ रहा है कि पोल कहीं मेरे व मेरे परिवार के ऊपर न उलट पड़े ।इस हाई मास्ट के उजाले का आनंद लम्बी लागत लगने के बाद भी किसी को नही मिल पाया। इसी क्रम में गोपालपुर से झरकटा जाने वाले सड़क मोड़ पर राकेश मिश्रा के मकान के पास लगा हाई मास्ट पोल लगने के एक माह तक प्रकाश दिया उसके बाद बन्द हो गया।

इसकी शिकायत विधायक से लेकर स्थानीय प्रशासन व जिला प्रशासन तक करने के बाद भी कोई रास्ता नही बन पाया, अंत मे पोल जर्जर अवस्था मे पहुच गया।जिसकी सूचना भी स्थानीय प्रशासन को भी दिया गया,लेकिन मरम्मत के नाम पर कुछ भी नही हो पाया और अंत में दो दिन पूर्व विधायक निधि से लगा हाई मास्ट हल्के हवा के झोंके पे उलट पड़ा। संयोग था कि यह राकेश मिश्रा के मकान पर गिरा। जिससे किसी जन की क्षति नही हुई। क्षेत्र के लोगो का कहना है कि अगर मकान नही रहता तो निश्चित ही कोई अप्रिय घटना घट सकती थी।

जब इस प्रकरण पर जब स्थानीय प्रशासन के आला कमान एसडीएम गोला गौरव श्रीवास्तव से पूछा गया तो उन्होंने बताया कि विधायक निधि से लगे सभी हाई मास्ट की जिम्मेदारी डीआरडीए की है। विस्तृत जानकारी विभाग से ही मिल सकता है। रही मकान पर पोल गिरने की बात तो मकान मालिक पोल को हटवा कर कही सुरक्षित स्थान पर रखवा दे।

Related Posts

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *