गोरखपुर

गोरक्षनाथ मन्दिर के लाइट एंड साउंड शो में गूंजेगी महाभारत फेम हरीश भिमानी, अभिनेता कबीर बेदी की आवाज

गोरक्षनाथ मन्दिर के लाइट एंड साउंड शो में गूंजेगी महाभारत फेम हरीश भिमानी, अभिनेता कबीर बेदी की आवाज

गोरखपुर: लंबी कवायद के बाद गोरखनाथ मंदिर परिसर में शुरू होने वाले ‘लाइट एंड साउंड” शो को लेकर सारी अड़चने दूर कर ली गई हैं। शो के लिए धन का इंतजाम हो गया है तो मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ द्वारा स्क्रिप्ट पर भी मुहर लगा दी गई है। सिर्फ इतना ही नहीं शो में वायस ओवर के लिए आवाज के महारथियों का भी चयन कर लिया गया है। यह महारथी हैं हरीश भिमानी और कबीर बेदी। दोनों महारथी अपनी बुलंद आवाज में नाथ पंथ की आध्यात्मिक कथा सुनाएंगे।

स्क्रिप्ट को आवाज देंगे हरीश भिमानी। यह वही हरीश भिमानी हैं, जिन्होंने महाभारत सीरियल में वायस ओवर दिया था। उस सीरियल का उनका डायलाग ‘मैं समय हूं” आज भी लोगों के दिलो-दिमाग पर चस्पा है। अंग्रेजी वायसओवर के लिए मशहूर फिल्म अभिनेता और बुलंद आवाज के स्वामी कबीर बेदी को चुना गया है। शो का अंग्रेजी वर्जन विदेशी सैलानियों के मद्देनजर तैयार किया जा रहा है।

कथा के दौरान माहौल में आध्यात्मिक रंग भरने के लिए बैकग्राउंड म्यूजिक के तौर पर मृदंग की मधुर ध्वनि गूंजेगी। शो के लिए केंद्र सरकार 4 करोड़ रुपये पहले ही स्वीकृत कर चुकी है। 4 करोड़ 82 लाख की लागत वाले इस शो की बाकी की धनराशि का वहन प्रदेश सरकार करेगी। सोमवार की शाम गोरखनाथ मंदिर में मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ के सामने क्षेत्रीय पर्यटन अधिकारी रवींद्र कुमार मिश्र ने शो की कागजी प्रस्तुति की।

मुख्यमंत्री ने उस पर अपनी अंतिम मुहर लगा दी। यहां यह बताना जरूरी है कि शो की स्क्रिप्ट स्वयं मुख्यमंत्री की देखरेख में तैयार की गई है।भारत सरकार के पर्यटन मंत्रालय के स्वदेश दर्शन योजना के तहत मंदिर परिसर में शुरू किए जाने वाले इस शो को 500 दर्शक एक साथ बैठकर देख सकेंगे। मंदिर का सर्वाधिक मनोरम स्थल भीम सरोवर शो का स्पॉट होगा। बैठने का इंतजाम सरोवर के चारो ओर अस्थाई रूप से कुर्सी लगाकर किया जाएगा।

इसके अलावा जमीन पर बैठने के लिए कुशन का भी इंतजाम होगा, जिससे संत लोग भी आध्यात्मिक माहौल में शो का आनंद ले सकें।नाथ पंथ की महिमा बताने वाला साउंड एंड लाइट शो करीब 40 मिनट का होगा। एक दिन में खुले आसमान के नीचे एक बार चलने वाले इस शो की शुरुआत सूर्यास्त के साथ होगी। ऐसे में जाड़े और गर्मी के मौसम में शो का समय अलग-अलग तय किए जाने की संभावना है।

क्षेत्रीय पर्यटन अधिकारी रवींद्र कुमार मिश्र ने बताया कि मुख्यमंत्री द्वारा शो के स्क्रिप्ट पर मुहर लगने के बाद कार्यदायी संस्था  टीसीआइएल (टेली कम्युनिकेशन कंसल्टेंट इंडिया लिमिटेड) को तीन दिन में गोरखनाथ मंदिर परिसर में सिविल कार्य शुरू करने का निर्देश दे दिया गया है। कार्य को पूरा करने का 30 जून तक लक्ष्य रखा गया है। पूरी कोशिश है कि जुलाई महीने में शो की प्रस्तुति शुरू हो जाए।

Related Posts

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *