गोरखपुर

शाहपुर पुलिस बेखबर, मालिक ने दौड़ा कर पकड़ी चोरी की गाड़ी

शाहपुर क्षेत्र मालिक ने दौड़ा कर पकड़ी चोरी की गाड़ी

गोरखपुर: महानगर के शाहपुर थाना क्षेत्र में एक अजीब वाकया सामने आया है। यहाँ एक व्यक्ति की बाइक चोरी हो गयी। उन्होंने पुलिस को सुचना दी। पुलिस ने तीन दिन बीत जाने के बाद भी कुछ नहीं किया। तीन दिन बाद वो व्यक्ति खुद ही अपनी बाइक पर किसी और को सवार देख चोर को दौड़ा कर पकड़ लेता है और उसे पुलिस के हवाले करता है।

जानकारी के अनुसार रेलवे यांत्रिक कारखाना से 2 जनवरी को राणा प्रताप सिंह की UP53 R 4531 नंबर की हीरो एच एफ डिलक्स चोरी हो गयी। चोरी की तत्काल सूचना राणा प्रताप सिंह ने शाहपुर पुलिस को लिखित रुप में दे दी लेकिन पुलिस 3 दिन बीत जाने पर भी अब तक एफआईआर दर्ज नहीं कर पाई।

शुक्रवार को राणा प्रताप सिंह अपने मोहनापुर स्थित प्लाट देखने निकले थे। जैसे ही वह पादरी बाजार पुलिस चौकी से मोहनापुर को जाने वाली सड़क पर जा रहे थे अचानक उन्होंने अपनी गाड़ी देखी। इसके बाद राणा सिंह ने दौड़ाकर उस गाड़ी का पीछा किया इसके बाद गाड़ी को पकड़कर चोर सहित पादरी पुलिस चौकी ले आए। चोर को पुलिस के हवाले सुपुर्द कर दिया।

शाहपुर

शाहपुर

पूछताछ में चोर ने अपना नाम आशुतोष सिंह पुत्र जयरासन सिंह निवासी भट्टा चौराहा जंगल धूषण का रहने वाला बताया।युवक पूरी तरह से नशे में था। पूछताछ में उसने बताया कि यांत्रिक कारखाना के भीतर रखी गाड़ियों को वह साइकिल लॉक करने वाली सीधी चाबी से खोलता है जबकि पैर की ठोकर से मार कर वह लॉक को तोड़ देता है।

लगातार रेलवे यांत्रिक कारखाना के भीतर से गाड़ी चोरी की वारदात हो रही है फिर भी शाहपुर पुलिस मूकदर्शक बनी हुई है इस दौरान जब इंस्पेक्टर शाहपुर घनश्याम तिवारी से बात की गई तो उन्होंने कहा कि मामले की छानबीन की जा रही है पुलिस अपना काम कर रही है ।

वही राणा प्रताप सिंह चोर को लेकर पुलिस चौकी पर पहुंचे तो चौकी पर एक भी सिपाही मौजूद नहीं था।कुछ देर इंतजार करने के बाद अलाव सेंक रहे एक सिपाही ने राणा सिंह को बुलाया। पूछताछ के बाद चोर को अंदर बैठा दिया ।चोर चौकी पर पहुंचते ही गाड़ी को स्टार्ट करने वाली डुप्लीकेट चाबी को चौकी के बाहर फेंक दिया। जो बाद में राणा प्रताप सिंह ने पुलिस को सौंप दिया।

विगत 15 दिनों के भीतर लगभग यांत्रिक कारखाना कारखाने के अंदर से 4 गाड़ियां चोरी हो चुकी है जिसमें एक गाड़ी आर पी एफ इंस्पेक्टर की भी शामिल है।

रेलवे यांत्रिक कारखाना के भीतर से चोरी की गई गाड़ियों की सूची

18 दिसंबर-सीनियर सेक्शन इंजीनियर के पद पर तैनात रुद्रमणि यादव यूपी 53 जेड 8665 न. की गाड़ी गायब हुई। एफआईआर दर्ज किया गया है।
30 दिसंबर-आरपीएफ इंस्पेक्टर एम.ए. अंसारी की बीआर 29 एच 6583 न. की गाड़ी चोरी हुई थी। एफ आई आर दर्ज नहीं हुआ है।
2 जनवरी-कुशीनगर जनपद के थाना कप्तानगंज ग्राम अगया के रहने वाले राणा सिंह की यूपी 57 आर 4531 न. की गाड़ी चोरी हुई ।
4 जनवरी- सुबह रेलवे यांत्रिक कारखाना से एक गाड़ी चोरी हो गई जिसका सूचना 100 नंबर पुलिस को तत्काल दी गई , पुलिस मौके पर पहुंचकर छानबीन की।
फिलहाल पुलिस ऐसी औपचारिकता कर रही है लेकिन बाइक चोर अपने कार्य के मस्त है, कब रुकेंगी ऐसी घटनाए और आखिर चोरी की गाडियों का क्या होता है ये एक बड़ा सवाल है।

Related Posts

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *