गोरखपुर

देवरिया में खुलेगा मेडिकल कॉलेज, सीएम योगी किया ऐलान

देवरिया में खुलेगा मेडिकल कॉलेज, सीएम योगी किया ऐलान

देवरिया: प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने आज देवरिया में एक मेडिकल खोलने की घोषणा करते हुये कहा कि इसका प्रस्ताव केंद्र सरकार को भेज दिया गया है।यह मेडिकल कालेज जिला अस्पताल की बची भूमि में तथा अन्य जमीन के लिये जिला प्रशासन को देखकर प्रस्ताव के माध्यम से जानकारी देने का निर्देश दिया गया है।

योगी ने आज एक जनसभा को सम्बोधित करते हुए कहा कि कहा कि पूर्वी उत्तर प्रदेश में दशकों से मासूमों के काल के रूप में उभरी बीमारी इंसेफेलाइटिस पर बहुत हद तक स्वच्छता के जरिये नियंत्रण पाया जा सकता।

योगी आज देवरिया से बीस किलोमीटर दूर गौरीबाजार के लबकनी गांव में स्कूल चलो अभियान तथा विशेष संचारी रोग इंसेफेलाइटिस व एक्यूट इंसेफेलाइटिस सिंड्रोम(एईएस) पर बोलते हुये कहा कि जहां के बच्चें शिक्षित और स्वस्थ होंगे वह समाज और राष्ट्र आगे बढ़ता है।हमारी सरकार बच्चों को स्कूल भेजने के लिये कृतसंकल्पित है और हमारी सरकार ने प्राइमरी स्कूल के बच्चों को पढ़ाने के लिये स्कूल चलों अभियान चला रही है।हमारी सरकार प्राइमरी के बच्चों को स्कूल बैग, कापी किताब तथा ड्रेस दे रही है।

योगी ने कहा कि कोई समाज तभी स्वाबलम्बी बन सकता है जहां के बच्चें शिक्षित तथा स्वस्थ हो।कहा कि हमारी सरकार मार्च 2017 में आयी और  तब से अभी तक 1करोड़ 54 लाख बच्चों को ड्रेस,कापी किताब आदि दिये गये हैं। हमारी सरकार बच्चों के शिक्षा के लिये कृत संल्पित है।

उन्होंने कहा कि पूर्वी उत्तर प्रदेश में इंसेफेलाइटिस का प्रकोप बढ़ रहा है। इस बीमारी की जड़ में गंदगी है। स्वच्छता अपना कर इस बीमारी पर नियंत्रण किया जा सकता है। इंसेलाइटिस की बीमारी की तीन वजह मच्छर,गंदगी और अशुद्ध पेयजल माना जाता है।स्वच्छता को अपना कर इस बीमारी को काबू में पाया जा सकता है।देश के प्रधान मंत्री नरेन्द्र मोदी जी ने 2014 में स्वच्छता अभियान का देश में श्री गणेश किया था और जरूरत है कि इस अभियान में और जोर शोर से लगकर एक स्वस्थ और सुन्दर भारत को बनाने में जुट जाया जाय।

योगी ने कहा कि हमारी सरकार किसानों के हितो तथा उनकी सुविधाओं का ख्याल करते हुये कार्य कर रही है।अब गेंहूं का समर्थन मूल्य 110रूपये बढ़ाकर 1745 कर दिया गया है तथा किसानों का गेंहूं मूल्य उनके खातों में 72 घंटों में चला जायेगा।इस साल प्रदेश में 5500 गेंहूं क्रय केन्द्र खोले जा रहे हैं।

Related Posts

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *