गोरखपुर

सपा में विलय होते ही फील गुड करने लगे मुख़्तार; आगरा से लखनऊ जेल में किया गया शिफ्ट

Mukhtar-Ansariगोरखपुर: प्रदेश में सत्तारूढ़ दल के साथ विलय होते ही कौमी एकता दल के नेता मुख़्तार अंसारी फील गुड कर रहे है। जिसका नतीजा उन्हें आगरा जेल से लखनऊ जेल में शिफ्ट किया गया है।
माना जा रहा है कि सपा में विलय होने के इनाम स्वरुप मुख्तार को शिफ्ट किया गया है क्योंकि मुख्तार लंबे समय से लखनऊ जेल में शिफ्ट होना चाहते थे। हालांकि, जेल प्रबंधन ने मुख्तार अंसारी के खराब स्वास्थ्य का हवाला देते हुए बेहतर इलाज की सुविधा को देखते हुए लखनऊ ट्रांसफर करने की बात कही है।
लगभग तीन साल पहले सपा सरकार ने मुख्तार को उसके राजनितिक प्रभाव को देखते हुए गाजीपुर जेल वापस भेजने से साफ मना कर दिया था। हालांकि, सपा सरकार ने लखनऊ जेल में शिफ्ट करने पर सहमति जतायी थी, लेकिन लोकसभा चुनाव सहित अन्य मसलों पर कुछ राजनितिक कारणों वश शिफ्ट नहीं किया गया था।
ज्ञातब्य है कि विधायक मुख्तार अंसारी पिछले चार साल से आगरा केंद्रीय कारागार में बंद हैं। यहीं से उन्होंने विधानसभा और लोकसभा चुनाव भी लड़ा। बाद में सत्ता की नजदीकियों का फायदा उठाने के नाम पर दोनों दलो के आपसी सहमति पर मंगलवार को सपा के राष्ट्रिय महासचिव शिवपाल सिंह यादव की देखरेख में औपचारिक विलय कर बुधवार की प्रेस कांफ्रेंस कर इसकी विधिवत घोषणा कर दी गयी।
समाजवादी पार्टी (सपा) के प्रांतीय प्रभारी और यूपी के वरिष्ठ कैबिनेट मंत्री शिवपाल सिंह यादव ने कौमी एकता दल के अध्यक्ष अफजाल अंसारी के साथ संयुक्त प्रेस कॉन्फ्रेंस में इस विलय का औपचारिक ऐलान किया था। वहीं मुख्तार अंसारी सपा ज्वाइन करेंगे या नहीं इस पर दोनों नेता चुप्पी साधे रहे थे।
हमारा फेसबुक पेज LIKE करना न भूले:
fb

Related Posts

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *